+

MURDER MYSTERY: अमृता चंदेल ने इस तरह लिया एक थप्पड़ का बदला, नाजायज़ रिश्ते में रोड़ा बना पति तो ब्वॉयफ्रेंड ने खेला डर्टी गेम

  • कहानी प्यार को धोखा देने वाले ख़ूनी इश्क़ की

  • ऐसी मोहब्बत जिसने पति का सीना चीरा

  • फ़रेब की इंतेहा बयां करने वाली क़ातिल पत्नी

अमृता चंदेल

अमृता के नाम में जितनी शालीनता है उससे कई गुना ज्यादा वहशी है इसके जुर्म करने का तरीका. अमृता प्रेमी को अपने प्यार के आंचल में बिठाकर अपने ही बेगुनाह और महनती पति कि मौत की साज़िश रचती रही. लेकिन रास्ते में बार-बार रोड़ा बन रही थी पति की पत्नी को लेकर वफ़ादारी. अमृता जितनी बार पति से दूर जाने की कोशिश करती पति रूपेंद्र. पत्नी अमृता को उतना ही अपने प्यार की गिरफ़्त में जकड़ने की कोशिश करता. लेकिन पत्नी किसी पतंगे की तरह पति से अलग उसी के दोस्त ओमवीर की मोहब्बत की आग में जलने को आतुर थी.

इसी दोस्ती का गला घोटने वाले फ़रेबी इश्क़ की गवाही है रुपेंद्र सिंह चंदेल हत्याकांड की अजीबो-गरीब कहानी.

रुपेंद्र सिंह चंदेल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर दिल्ली की नामी कंपनी में सेल्स मैनेजर की अच्छी नौकरी कर रहा था. घर पर पैसों की कमी नहीं थी, ज़िंदगी अच्छी कट रही थी. इसी बीच रुपेंद्र सिंह ने अपनी ज़िंदगी में एक नया अध्याय अमृता से शादी कर जोड़ा. शादी के शुरुआती महीने बेहद खुशी के साथ गुजर रहे थे. शादी और अच्छी नौकरी के बूते रुपेंद्र और अमृता ने नोएडा एक्स्टेंशन के गौर सिटी फ़ेज 2 में फ्लैट भी लिया. आसपास के पड़ोसी इस नए जोड़े के प्यार की दाद देते. लेकिन इस हंसते खेलते प्यार को किसी की काली नज़र लग गई. अमृता अब आए दिन पति से झगड़ा करती. लेकिन रुपेंद्र नए-नए बने इस रिश्ते को बचाने की हर वो कोशिश करता जिससे शादी का ये बंधन कभी ना टूटे. कहानी में इसी बीच एंट्री होती है रुपेंद्र के करीबी दोस्त ओमवीर की. ओमवीर अक्सर घर आया जाया करता. यही आना जाना कब इश्क़ की खिड़की खोल गया ये दोनों की समझ से परे था.

रुपेश चंदेल के साथ बीवी अमृता चंदेल

सुबह की पहली किरण के साथ रोज मोहब्बत की एक नई इबारत लिखी जा रही थी. लेकिन अमृता के घर में रिश्ते किसी ताश के पत्ते की तरह ढह रहे थे. पति रुपेंद्र ने एक बार फिर धूल फांकते रिश्ते में जान फूंकने की कोशिश की.

इस बीच अमृता और ओमवीर ने इस बेनाम रिश्ते को नाम देने का सोचा क्योंकि अक्सर ओमवीर रुपेंद्र के ऑफिस जाने के बाद घर आता.और आसपास के लोगों में इसे लेकर शक़ पनपने लगा था. इससे बचने के लिए अमृता ने ओमवीर की शादी अपनी मौसी की बेटी से करा दी. ताकि किसी को भी अब उन दोनों के रिश्तों पर शक़ ना हो.

लेकिन प्यार का कुंआ ऐसा कि वो अमृता की प्यास न बुझा सका. अमृता पति को तलाक दे ओमवीर के साथ शादी करना चाहती थी लेकिन रुपेंद्र ने तलाक देने से मना कर दिया. बस इसी एक शब्द ने अमृता के दिमाग़ में चल रहे जुर्म के कीड़े को एक्टिव कर दिया. अमृता पति से छुटकारा पाने के लिए ओमवीर के साथ पति की मौत का जाल बुनने लगी.

इसी कड़ी में दोनों ने तीन-तीन लाख अपनी सोसाइटी के गार्ड और सोसाइटी के बाहर खड़े ऑटो चालक को रुपेंद्र को मौत के घाट उतारने की सुपारी दी. प्लान के तहत कुछ ही दिन पहले रुपेंद्र ने जो पत्नी अमृता के लिए गहने लिए थे उसकी रसीद लेने के लिए दुकान जाना था.जिसमें ओमवीर उसके साथ चलने को तैयार हो गया.

नीचे आते ही ओमवीर रुपेंद्र को उसी ऑटो में लेकर गया जहां उसकी मौत की कहानी लिखी जानी थी. ऑटो में पहले से ही सिक्योरिटी गार्ड मौजूद था.

28 अप्रैल 2019 को तीनों ने मिलकर रुपेंद्र को ग्रेटर नोएडा में गौर सिटी के पास सुनसान इलाके में ले जाकर दर्दनाक मौत दी. यहां पति की हत्या करवाने के बाद अमृता ने अपनी एक्टिंग की एक नई कहानी ही लिख दी. पुलिस पहले इसे लूटपाट का केस मान रही थी लेकिन बीवी की ओवर एक्टिंग ने पुलिस को उस पर शक़ करने पर मजबूर किया और मामला तब जाकर कहीं खुल पाया.

ये सच्चाई है की रिश्तों को बचाने की वो हर एक कोशिश करनी चाहिए. लेकिन जब रिश्तों में फरेब की दरार आती है तो वहीं से कहानी में जुर्म की कहानी लिखी जाती है. तो सतर्क रहें सचेत रहें.

शेयर करें
Tags :
Whatsapp share
facebook twitter