+

Ankita Case : अंकिता हत्याकांड में मिला सबसे बड़ा सबूत, जहां मर्डर हुआ वहां से मिला फोन

उत्तराखंड से कृष्ण गोविंद की रिपोर्ट

Ankita Murder Case : उत्तराखंड में अंकिता मर्डर केस में एक बड़ा खुलासा सामने आया है. जिस जगह पर अंकिता की चीला बैराज में फेंककर हत्या (Ankita Murder) हुई थी वहां से एक मोबाइल फोन मिला है. अभी माना जा रहा है कि ये फोन अंकिता का हो सकता है. लेकिन अभी पुष्टि नहीं हो पाई है.

अगर ये फोन अंकिता का हुआ तो मुख्य आरोपी पुलकित आर्य (Pulkit Arya) और दूसरे आरोपियों के खिलाफ हत्या को लेकर इससे अहम सबूत मिल सकता है. अब जल्द ही रिमांड पर आए तीनों आरोपियों को लेकर एसआईटी चीला बैराज भी आ सकती है. इससे पहले, 29 सितंबर को अंकिता मर्डर केस की जांच कर रही एसआईटी (Ankita Case SIT) ने तीनों आरोपियों को रिमांड पर लिया था. तीनों आरोपियों की 3 दिनों रिमांड मिली थी.

Ankita Bhandari Murder Case

Ankita Murder Latest update News : अंकिता मर्डर केस में कैसे घटना हुई और कैसे उसे अंजाम दिया गया. इस केस में पुलिस सूत्रों से बड़ी जानकारी मिली है. इसमें पता चला है कि 18 सितंबर को अंकिता, पुलकित, सौरभ और अंकित एक साथ रिजॉर्ट से तकरीबन 8 बजे निकले थे. इसके बाद रात 8:30 बजे चिल्ला बैराज से चारों ने बैराज का बैरियर पार किया था. 9 बजे बैराज से वापस सिर्फ तीन लोग लौटते हुए बैरियर पर दिखाई दिए.

इस दौरान ये भी पता चला है कि अंकिता का मर्डर 9 बजे से 9:30 बजे के बीच हुआ था. जिसे 18 सितंबर को ही अंजाम दिया गया. पुलिस को मोबाइल फोन की लोकेशन से भी कई अहम जानकारी मिली है. ये पता चला है कि अंकिता की लास्ट लोकेशन घटनास्थल पर ही थी. वहीं, पुलकित भी साथ में था. जांच में ये भी पता चला है की 14-15 सितंबर को अंकिता का दोस्त पुष्प रिजॉर्ट पर ही रुका था. 16 सितंबर को वो वापस जम्मू लौटा था. उसी के बाद 18 सितंबर की रात को ये घटना हुई थी.

अंकिता से जबरन देह व्यापार कराना चाहता था रिजॉर्ट मालिक

Ankita Bhandari Murder Story : पौड़ी गढ़वाल में अंकिता भंडारी मर्डर के पीछे की कहानी बेहद सनसनीखेज है. असल में पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता (BJP Leader) का बेटा अंकिता को गलत धंधे में ढकेलना चाहता था. इसके लिए वो लगातार उस पर दबाव बना रहा था. पुलिस का दावा है कि मुख्य आरोपी पुलिकत आर्य और इसके साथी अंकित और सौरभ पुष्कर ने जुर्म कबूल कर लिया है.

पुलिस सूत्रों का दावा है कि अंकिता को देह व्यापार के धंधे में धकेलना चाहते थे. रिजॉर्ट मालिक पुलकित चाहता था कि अंकिता रिजॉर्ट में आने वाले कस्टमर को खुश करे. उनके साथ रिलेशन भी बनाए. लेकिन उसने ऐसा करने से सीधे मना कर दिया था. इसी बात को लेकर 18 सितंबर को विवाद भी हो गया था.

जिसके बाद तीन लोगों के मिलकर उसे धक्का देकर चीला शक्ति नहर में गिरा दिया था. इसके बाद तीनों वापस रिजॉर्ट लौट आए थे. पुलिस की जांच में सीसीटीवी में दिखा की जब रिजॉर्ट से एक स्कूटी और एक बाइक पर अंकिता समेत 4 लोग बाहर निकले थे. लेकिन देर रात में लौटे सिर्फ 3 ही थे. अंकिता नहीं लौटी थी. तभी ये समझ आ गया कि अंकिता के साथ अनहोनी हो चुकी है. लेकिन तीनों आरोपी पहले पुलिस को इधर-उधर भटकाते रहे.

 

अंकिता ने कहा, रिजॉर्ट की सच्चाई सबको बताऊंगी तो पुलकित ने नहर में दिया धक्का

Ankita ka Murder kaise hua :18 सितंबर की शाम को चारों एक बाइक और स्कूटी से रिजॉर्ट से निकले थे. इसके बाद सभी बैराज होते हुए एम्स के पास पहुंचे. इसके बाद पुलकित अंधेरे में रुका तो अन्य लोग भी रुक गए. उसके बाद तीनों ने शराब पी. मोमो खाए. इसके बाद अंकिता से पुलकित बात करने लगा. उसे समझाने लगा. वो कह रहा था कि अंकिता अपने साथियों के बीच हमें बदनाम करती है. दूसरों को कहती है कि उसे कस्टमर से रिलेशन बनाने के लिए दबाव बनाया जाता है. इसी बात को लेकर अंकिता गुस्सा हो गई. अंकिता ने कहा कि मैं रिजॉर्ट की पूरी सच्चाई सबको बता दूंगी.

इतना कहकर गुस्से में अंकिता ने पुलकित का मोबाइल छीन लिया और नहर में फेंक दिया. इसके बाद पुलकित भी गुस्से में हाथापाई करने लगा और अंकिता को धक्का देकर नहर में गिरा दिया. इसके बाद तीनों वहां से रिजॉर्ट लौट आए. वहां पर शैफ मनवीर ने जब पूछा कि अंकिता कहां है तो इन लोगों ने कह दिया कि वो हमारे साथ गई ही नहीं थी. अगली सुबह दावा किया गया कि अंकिता और पुलकित दोनों हरिद्वार चले गए. लेकिन सोशल मीडिया पर लगातार सवाल उठाए जाने के बाद पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया लेकिन अंकिता की लाश की अभी भी तलाश की जा रही है.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter