+

UP Crime: ब्रीफ़केस में बंद प्रेमी की लाश मामले में नया खुलासा, प्रेमिका ने गला काटा तो फ्लैट में मौजूद थी सहेली!

UP News: 7 अगस्त को गाजियाबाद में एक सनसनीखेज हत्या हुई थी, लिव इन रिलेशन में रह रही एक महिला ने अपने प्रेमी की हत्या कर दी और सूटकेस में शव लेकर जा रही थी तभी पुलिस की चेकिंग में महिला पकड़ी गई थी

Ghaziabad Crime News: गाजियाबाद में ब्रीफ़केस (Suitcase) में बंद की हुई प्रेमी (Boyfriend) की लाश (Deadbody) के मामले में नया खुलासा हुआ है। पुलिस ने जांच में खुलासा किया है कि कत्ल (Murder) के वक्त फ्लैट (Flat) में लड़की (Girl) के साथ एक और दूसरी लड़की भी मौजूद थी। पुलिस इस दूसरी लड़की की तलाश में छापेमारी कर रही है। पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है इस कत्ल के दौरान जब प्रेमी फिरोज का गला काटा जा रहा था तो प्रीती की एक सहेली भी मौका ए वारदात पर मौजूद थी।

सहेली की मदद से प्रीती ने उस्तरे से फ़िरोज़ का गला काट दिया था और लाश को ट्रॉली बैग में रखकर आनंद विहार ठिकाने लगाने जा रही थी। पुलिस अब इस सहेली की तलाश में जुटी हुई है। 7 अगस्त को गाजियाबाद में एक सनसनीखेज हत्या का मामला सामने आया था।

लिव इन रिलेशनशिप में रह रही एक महिला ने अपने प्रेमी की हत्या कर दी और उसके बाद सूटकेस में उसका शव लेकर जा रही थी। लेकिन पुलिस की चेकिंग में महिला पकड़ी गई थी। प्यार गुस्सा और कत्ल का यह सनसनीखेज मामला गाजियाबाद के टीला मोड़ थाना क्षेत्र के तुलसी निकेतन इलाके का था। जहां महिला ने उस्तरे से अपने प्रेमी की हत्या कर दी थी।

आरोपी प्रीति शर्मा ने दीपक यादव नाम के शख्स के साथ शादी की थी। लेकिन पिछले करीब 4 वर्षों से महिला ने अपने पति दीपक यादव को छोड़ अपने मित्र दिल्ली निवासी फिरोज के साथ फ्लैट संख्या 181 तुलसी निकेतन में लिव इन पार्टनरशिप में रह रही थी। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक 6/7 अगस्त की रात को प्रीति की फिरोज पुत्र इकबाल मूल निवासी संभल, यूपी से जल्दी शादी को लेकर विवाद हो गया। हालांकि मिली जानकारी के अनुसार विवाद के बाद उसने अपनी लिव इन पार्टनर प्रीति से शादी करने से इंकार कर दिया और उससे कह दिया कि "तू अपने पति की नही हुयी तो मेरी क्या होगी।

इसके बाद गुस्साई प्रीति ने घर में रखे उस्तरे से फ़िरोज़ का गला काट दिया। सुबह यानी कि 7 तारीख को प्रीति दिल्ली के सीलमपुर से एक ट्रॉली बैग खरीद के लाई जिसमें वह फिरोज का शव रखकर गाजियाबाद रेलवे स्टेशन जा रही थी। प्रीति का प्लान था कि वह इस शव को किसी ट्रेन में रख देगी जिससे किसी अन्य शहर में जाकर उसका शव मिलेगा और फिरोज की पहचान तक नहीं हो पाएगी।

जब रात में प्रीति ट्रॉली बेग को सड़क किनारे ले जा रही थी तभी रात में गश्त कर रही पुलिस ने एक महिला को इतने बड़े ट्रॉली बैग के साथ जाते हुए देखा महिला ने इस दौरान वहां छुपने की भी कोशिश की लेकिन वह पुलिस से नहीं बच पाई पुलिस ने जब ट्रॉली बेग को खोल कर देखा तो उसके होश उड़ गए। पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो पता चला है कि इस हत्याकांड में प्रीती की एक सहेली भी शामिल है जो हत्या के वक्त फ़्लैट में मौजूद थी।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter