+

Crime : प्रेमी और पति में एक को चुनना था, लवर का मर्डर कर लाश को बाइक पर रख दफना दिया

UP Gorakhpur Crime News : यूपी के गोरखपुर में मर्डर (Murder) की एक सनसनीखेज घटना हुई. शादीशुदा महिला के प्रेमी का कत्ल हुआ. इस हत्या की साजिश खुद उसकी प्रेमिका ने अपने पति के साथ मिलकर रची. वजह थी पति को इनके अवैध रिश्तों की भनक लग जाना.

इससे पहले वो प्रेमी (Lover) मुंहबोला भाई बनकर शादीशुदा महिला के घर आता-जाता था. साजिश के तहत प्रेमी को उसकी प्रेमिका के पति अपने हाथों से खूब शराब पिलाई. बेहोशी के बाद उसकी हत्या कर दी गई और फिर 24 घंटे बाद उसकी लाश को बाइक पर रखकर बांध के पास ले गए. उस समय बाइक पर पीछे बैठी महिला खुद अपने हाथों से प्रेमी की लाश को पकड़ी थी. पुलिस ने दोनों कत्ल के दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

Murder News

गोरखपुर के पीपीगंज थाने का है मामला

Murder News : शादीशुदा महिला के प्रेम में प्रेमी को जान गंवानी पड़ गई. गोरखपुर जनपद के पीपीगंज थाना क्षेत्र की रहनी वाली शादीशुदा महिला ने प्रेमी को अपने घर बुलाकर पति के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी. शव को 24 घंटे उसने घर में छिपाए रखा. अगले दिन गांव से 7 किमी दूर सहजनवां क्षेत्र में रेगुलेटर के पास बांध किनारे बोरे में भरकर शव को फेंका था. महिला अपने पति के साथ शव को बाइक से ले गई थी. पति बाइक चला रहा था और वह शव लेकर बैठी थी.

एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया कि 14 दिसंबर की सुबह सहजनवां थाना क्षेत्र के माडर रेगुलेटर के पास बोरे में बंधा युवक का शव मिला था. अगले दिन उसकी पहचान खोराबार के लालपुर टीकर गांव के छावनी टोला निवासी मुन्ना कुमार के रूप में हुई.

मुंहबोला भाई बनकर मिलने आता था प्रेमी मुन्ना

Crime News : मरने वाले की पहचान होने के बाद सर्विलांस की मदद से पुलिस ने छानबीन शुरू की तो पता चला कि 12 दिसंबर को मुन्ना पीपीगंज के बेलघाट बुजुर्ग गांव निवासी राहुल शर्मा के घर गया था. जांच करने पर पता चला कि मुन्ना के गांव की रहने वाली सीता की शादी राहुल शर्मा से हुई है. सीता से मुन्ना का प्रेम संबंध था. शादी के बाद भी वह खुद को मुंहबोला भाई बता सीता से मिलने उसकी ससुराल जाता था.

बढ़ई का काम करने वाले राहुल शर्मा को दोनों के संबंध की जानकारी नहीं थी. दीपावली में लौटने पर राहुल को पत्नी के अवैध रिश्तों की जानकारी हुई थी. जिसके बाद परिवार में विवाद होने लगा. कलह बढ़ने पर दोनों ने मुन्ना को रास्ते से हटाने की योजना बनाई. अब सीता के सामने अब दो ही रास्ते थे. या तो वो अपने प्रेमी का कत्ल कराए या फिर अपने पति को छोड़ दे. सीता आखिरकार कत्ल करने को तैयार हो गई.

सीता ने 12 दिसंबर को मुन्ना को अपने घर बुलाया. इस बारे में राहुल को जरा सी भी भनक नहीं लगने दी कि उसके पति को रिश्तों के बारे में जानकारी है. तय योजना के अनुसार राहुल ने उसे शराब पिलाई. नशे में धुत होने पर सिर पर डंडे से हमला कर हत्या कर शव को कमरे में छिपा दिया. अगले दिन रात में बाइक से शव को सहजनवां क्षेत्र में ले जाकर बांध किनारे फेंक दिया. साक्ष्य मिटाने के लिए मुन्ना का मोबाइल फोन व जूता सिसई घाट के पास राप्ती नदी में फेंक दिया ताकि वो कभी मिले ही नहीं. अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter