+

Sonali Phogat : पुलिस की इस सीक्रेट रिपोर्ट में सोनाली को ड्रग्स देने व टॉयलेट ले जाने का पूरा सच मिल गया

Goa Police investigative Report on Sonali Phogat death : टिकटॉक स्टार सोनाली फोगाट की मौत (Sonali Phogat Death) की पूरी इनसाइड रिपोर्ट (Inside Report). सोनाली फोगाट को कैसे ड्रग्स (Drugs) दिया गया.

Sonali Phogat Murder Inside Story : टिकटॉक स्टार और बीजेपी लीडर सोनाली फोगाट की मौत (Sonali Phogat Death) कैसे और किन वजहों से हुई? सोनाली फोगाट के साथ 22 अगस्त से लेकर 23 अगस्त की सुबह मौत होने तक क्या-क्या हुआ? सोनाली फोगाट को कैसे ड्रग्स (Drugs) दिया गया. डांस क्लब के टॉयलेट में दो घंटे तक क्या हुआ? आखिर सोनाली को बार-बार ड्रग्स कैसे और क्यों दिया गया. गोवा पुलिस की जांच रिपोर्ट में इन सब सवालों की बारीकी से जानकारी मिल जाएगी. सोनाली फोगाट को ड्रग्स देने के लिए होटल के रूम बॉय ने दो बार 12 हजार रुपये की ड्रग्स दी थी. पढ़िए इनसाइड रिपोर्ट

अस्पताल से आई कॉल से पुलिस को मिली मौत की खबर

Sonali Phogat Murder Full Investigation Report : अंजुना पुलिस स्टेशन में 23 अगस्त की सुबह करीब 9.22 बजे सेंट एंथनी अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर का फोन आया था. ये बताया गया कि गोवा के सेंट एंथनी अस्पताल में एक महिला को संदिग्ध हालात में मृत लाया गया है. इस जानकारी को अंजुना पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया. इसके बाद पुलिसकर्मी फ्रांसिस्को जेवियर, साहिल वारंग और अन्य सेंट एंथनी अस्पताल पहुंचे.

पुलिस को सेंट एंथनी अस्पताल में पूछताछ करने पर पता चला कि मृतक सोनाली फोगाट को सुधीर पाल सांगवान और सुखविंदर सिंह नाम के 2 शख्स वेगाटोर इलाके के लियोनी रिज़ॉर्ट से सेंट एंथनी अस्पताल लेकर पहुंचे थे.

जिसके बाद सुधीर पाल सांगवान और सुखविंदर सिंह से पूछताछ करने पर पता चला कि 22 अगस्त 2022 को सोनाली फोगट, सुधीर पाल सांगवान और सुखविंदर सिंह फ्लाइट से गोवा आए थे. यहां तीनों होटल ग्रांड लियोनी रिज़ॉर्ट, वागाटोर, बर्देज़ गोवा स्थित में ठहरे थे.

ALSO READ : Sonali Phogat CCTV: सोनाली फोगाट मर्डर केस में ड्रग्स पार्टी का CCTV देखिए

घटना वाली रात सोनाली को 2 बार टॉयलेट गया था सुधीर सांगवान

उसी दिन रात के करीब साढ़े 10 बजे वे तीनों अंजुना इलाके के कर्लीज़ बीच शेक पहुंचे थे. जांच रिपोर्ट से ये भी पता चलता है कि जब वे कर्लीज़ बीच शेक पर थे तो सोनाली फोगाट को बेचैनी महसूस हुई थी. तो सुधीर पाल सांगवान सोनाली फोगाट को देर रात के करीब 2:30 बजे पहले महिला टॉयलेट में ले गया. जहां उन्हें उल्टी हुई.

कुछ देर बाद वो वापस आयी और फिर से डांस करने लगी थी. उसके बाद फिर से कुछ देर बाद उनकी तबीयत खराब होने लगी तो 4.30 बजे सुधीर सांगवान उन्हें फिर से महिला टॉयलेट में ले गया. जहां सोनाली ने सुधीर को बताया कि वो टॉयलेट में बैठी है क्योंकि वो खुद से खड़ी नहीं हो पा रही है. और न ही ठीक से चलने के काबिल है. और जिसके बाद वो कुछ देर वहीं टॉयलेट में सो गई.

ALSO READ : Sonali Phogat : मौत से पहले CCTV में सोनाली फोगाट के लड़खड़ाते कदम, PA सुधीर के कंधे का सहारा

सोनाली की हालत बेहद खराब थी फिर अस्पताल नहीं होटल क्यों ले आए?

इसके बाद 6 बजे सुधीर और सुखविंदर दो और लोगों की मदद से सोनाली को कर्लीज बीच शेक डांस क्लब की पार्किंग एरिया में ले गए. जहां से उन्हें होटल ग्रैंड लियोनी रिज़ॉर्ट ले जाया गया. होटल में सोनाली की हालत बिगड़ने लगी तो उसे सेंट एंथनी अस्पताल ले गए. जहां इलाज के दौरान सोनाली को मृत घोषित कर दिया गया. इसके बाद मृतका सोनाली के शव का पंचनामा भरा गया था.

ठीक उसी दिन जानकारी मिलते ही सोनाली फोगाट के भाई रिंकू ढाका हरियाणा से परिवार के अन्य सदस्यों के साथ गोवा पहुंचे थे. इसके बाद 25 अगस्त को सोनाली फोगाट के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. 2 डॉक्टर के पैनल ने शव का पोस्टमार्टम किया. पता चला कि सोनाली के शरीर पर कई चोट के निशान हैं. जिन्हें मल्टीपल ब्लंट इंजरी कहा गया था.

पीड़ित परिवार की शिकायत पर अंजुना पुलिस ने तुरंत सुधीर सांगवान और सुखविंदर सिंह के खिलाफ आईपीसी की धारा-302 यानी हत्या का मुकदमा दर्ज किया था. ये मुकदमा सोनाली के भाई रिंकू ढाका की शिकायत पर दर्ज किया गया था. मुकदमा दर्ज करते ही पुलिस ने सुधीर और सुखविंदर दोनों को अंजुना पुलिस स्टेशन में पूछताछ के लिए बुलाया.

पूछताछ के दौरान सुधीर पाल सांगवान ने यह कहते हुए अपराध कबूल कर लिया कि गोवा पहुंचने के बाद वो सुखविंदर सिंह के साथ सोनाली फोगाट को पार्टी करने के बहाने गोवा के अंजुना में कर्लीज रेस्तरां डांस क्लब ले गया और वहां उसने एक ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर जबरदस्ती सोनाली फोगाट को पिला दिया. सुधीर ने ये भी खुलासा किया कि सुखविंदर सिंह ने वो नशीला पदार्थ (MDMA) हासिल करने में उसकी मदद की थी. बाद में पूछताछ के दौरान ये बात सुखविंदर सिंह ने भी कबूल कर ली.

वो ड्रिंक पीने के बाद सोनाली फोगाट रेस्तरां में अजीब महसूस करने लगी थी. उसकी तबीयत अचानक से बिगड़ने लगी. बाद में उसे सुधीर पाल सांगवान और सुखविंदर सिंह होटल ग्रांड लियोनी रिज़ॉर्ट ले गए. जहां वे ठहरे हुए थे और फिर सेंट एंथनी अस्पताल ले गए जहां सोनाली को मृत घोषित कर दिया गया.

अंजुना पुलिस ने जांच के दौरान कर्लीज रेस्तरां की सीसीटीवी रिकॉर्डिंग की जांच की जिसमें साफ दिख रहा था कि सुधीर सांगवान ने सोनाली फोगाट को जबरदस्ती ड्रिंक के बहाने नशीला पदार्थ (MDMA) पिला रहा है. इसके बाद 26 अगस्त को अंजुना पुलिस ने सुधीर और सुखविंदर को सोनाली के कत्ल के आरोप में गिरफ्तार कर लिया.

ऐसे होटल के रूम बॉय से 12 हजार रुपये में मिला 2 बार ड्रग्स

पुलिस की जांच रिपोर्ट से पता चला है कि आरोपी सुधीर पाल सांगवन ने बताया कि 22 अगस्त को वो खुद सोनाली फोगाट और सुखविंदर के साथ गोवा आया था. यहां पर ग्रैंड लियोनी रिज़ॉर्ट रुके थे. यहां के होटल के रूम बॉय की मदद से सुधीर और सुखविंदर ने MDMA नाम का ड्रग्स खरीदा. इस ड्रग्स के लिए दोनों ने 5000 रुपये और 7000 रुपये भी दिए.

ये पता चला कि ड्रग्स को दो बार में खरीदा गया. पहले तीनों ने अपने होटल के कमरे में MDMA ड्रग्स का सेवन किया. इसके बाद कर्लीज बीच के लिए रवाना हुए. आरोपी सुधीर पाल सांगवान ने ये भी बताया कि उसने एक खाली पानी की बोतल में MDMA ड्रग्स डाला और उसे अपने साथ कर्लीज बीच क्लब में ले गया. साथ ही बाकी बची हुई एमडीएमए को अपनी जेब में रख लिया था.

सुधीर सांगवान ने टॉयलेट के फ्लश टैंक में डाल दिया था बचे ड्रग्स को

सुधीर ने ये भी खुलासा किया कि कर्लीज बीच पर भी ड्रिंक में MDMA ड्रग मिलाया. जिसे तीनों ने वहीं पर पी लिया था. इसके अलावा उसने ये भी खुलासा किया कि सोनाली ने उसे बताया था कि उसे बहुत अजीब लग रहा है. जिसके बाद सोनाली के कहने पर वो उसे टॉयलेट में ले गया था. जहां सोनाली को उल्टी हुई.

ये देखकर सुधीर समझ चुका था कि सोनाली फोगाट को ड्रग की ओवरडोज़ हो चुकी है. जिसके बाद डर की वजह से सुधीर ने बाकी बचे MDMA को उसी खाली बोतल में डाल कर पहली मंजिल पर बने उसी टॉयलेट के फ्लश टैंक में डाल दिया और ढक्कन बंद कर दिया.

इस बयान के आधार पर अंजुना पुलिस उसी बीच पर गई और कर्लीज रेस्तरां डांस क्लब के टॉयलेट से ड्रग्स वाली बोतल को टॉयलेट से बरामद कर लिया. इस दौरान पुलिस के साथ फॉरेंसिक टीम भी मौजूद थी. उस पानी की बोतल पर "बिसलेरी" का लेबल लगा हुआ था. तफ्तीश करने पर साफ हुआ बोतल में भरा हुआ पदार्थ MDMA है जिसका वजन 2.20 ग्राम था. इस बोतल को फिंगरप्रिंट मिलान करने के लिए पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया.

पुलिस के मुताबिक, कर्लीज बीच शेक से लौटने पर आरोपी सुखविंदर सिंह से फिर पूछताछ की गयी. जिसमें उसने बताया कि उन्होंने दत्ताप्रसाद गांवकर से प्रतिबंधित ड्रग MDMA खरीदे थे जो ग्रैंड लियोनी रिज़ॉर्ट में बतौर रूम बॉय काम करता है. आगे की जांच में पता चला कि कर्लीज़ बीच शैक के मालिक और वहां के मैनेजमेंट ने अपने रेस्तरां में ड्रग्स के सेवन की अनुमति दी थी. ये उनकी जानकारी में भी था कि गेस्ट यहां ड्रग का सेवन करते हैं. जिसके बाद उनके खिलाफ भी कार्रवाई की गयी.

Sonali Phogat CCTV : नशे की ओवरडोज से ऐसी हालत में आखिरी बार दिखी थीं सोनाली फोगाट, देखें VIDEOSonali Phogat Murder Case: सोनाली फोगाट के केस में पुलिस को क्या कुछ मिला ? हत्या, ड्रग या कुछ और...
शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter