+

श्रद्धा के 35 टुकड़ों को लेकर सियासत की आंच होने लगी तेज़, इंसाफ दिलाने के नाम पर रोटियां सेंकना शुरू

Shraddha Murder Case: दिल्ली महरौली (Mehrauli) में श्रद्धा की दर्दनाक हत्या का मामला अब सियासत (Political) के लिए एक बड़ा मुद्दा बनता दिखने लगा हैै। इस मामलो को लेकर सियासी पार्टियां अपने अपने मुताबिक सियासी रोटी सेंकने की फिराक में लग गई हैं।

श्रद्धा को इंसाफ दिलाने की मांग को उठाकर अब सियासत से जुड़े लोगों ने इस मामले में बयान देने शुरू कर दिए हैं। कांग्रेस ने सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में एक महिला की उसके लिव-इन पार्टनर द्वारा की गई जघन्य हत्या को क्रूर बताते हुए अपराधी को सख्त से सख्त सजा देने की मांग की।

Shraddha Murder Case: पुलिस ने सोमवार को कहा कि आफताब अमीन पूनावाला नामक आरोपी ने अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाकर का गला घोंट दिया और उसके शरीर के 35 टुकड़े कर दिए जो उसने दक्षिण दिल्ली के महरौली में अपने घर में लगभग तीन सप्ताह तक 300 लीटर के फ्रिज में रखे और फिर इन टुकड़ों को शहर के विभिन्न हिस्सों में फेंक दिया।

Shraddha Murder Case: कांग्रेस महासचिव संचार प्रभारी जयराम रमेश ने कहा कि युवा श्रद्धा वाकर की उनके लिव-इन पार्टनर आफताब पूनावाला द्वारा की गई हत्या पर देश के सदमे और गुस्से को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।

Shraddha Murder Case: उन्होंने ट्विटर पर कहा, ‘‘यह जघन्य अपराध हैवानियत भरा है और अपराधी को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। श्रद्धा और भारत की बेटियां न्याय की हकदार हैं।’’

Shraddha Murder Case: पुलिस की जांच में पता चला है कि दोनों के बीच में काफी समय से झगड़ा होता था. इस बीच दोनों को एक दूसरे पर शक भी होने लगा था. आफताब को लगता था कि श्रद्धा का कोई दूसरा करीबी दोस्त बन चुका है. वहीं, श्रद्धा का भी दावा था कि आफताब की पसंद अब कोई और है. इस बात को लेकर मर्डर से कुछ महीने पहले दोनों कई हिल स्टेशन भी गए थे.

Shraddha Murder Case: हिमाचल प्रदेश में कई दिनों तक घूमने के बाद दोनों दिल्ली में रहने का प्लान बनाया था. इसके बाद दोनों 8 मई को दिल्ली आ गए थे. 15 मई को दोनों ने छतरपुर में किराए का कमरा लिया था. इसी में 18 मई को दोनों के बीच झगड़ा हुआ. लड़ाई के दौरान दोनों में झगड़ा बढ़ा तो श्रद्धा शोर मचाने लगी. तभी आफताब ने उसका मुंह बंद कर दिया और गला दबाकर हत्या कर दी. इसके बाद उसके शव को बाथरूम में रख दिया था.

इसके बाद वो शव को ठिकाने लगाने के लिए गूगल पर काफी सर्च किए. उसने सर्च किया कि कैसे किसी इंसान के शरीर को कई टुकड़ों में आसानी से अलग किया जा सकता है. इसके बाद उसने अगले दिन मार्केट से आरी और फ्रिज खरीदकर ले आया. फिर उसने श्रद्धा के शरीर को 35 टुकड़ों में काटा. और उसे फ्रिज में रख दिया.

अब रोजाना फ्रिज से कुछ टुकड़ों को निकालकर पॉलिथीन में पैक करता था और फिर महरौली के जंगलों में फेंक आता था. पुलिस की पूछताछ के बाद उसकी निशानदेही से श्रद्धा के शरीर के करीब 13 टुकड़े मिल चके हैं. ये हड्डियां काफी दूरदूर मिल रहे हैं.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter