+

Rishabh Pant Accident: ऋषभ पंत को मौत के मुंह से निकालने वालों को मिला ये इनाम

Rishabh Pant Accident: भारतीय टीम प्लेयर (Indian Cricket Player) ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का भेहद ही भयानक एक्सीडेंट हुआ. पंत को सबसे ज्यादा चोटें सिर और पैर में आई हैं. हादसे के बाद एक ड्राइवर-कंडक्टर ने उनकी जान बचाई. मौके पर पंत को दोनों ने मिलकर गाड़ी से निकाला और हॉस्पिटल लेकर गए. पंत का देहरादून के मैक्स हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है. ऋषभ पंत के ब्रेन और स्पाइन का MRI स्कैन किया गया है. जिसकी रिपोर्ट भी आ गई है और अभी तक की रिपोर्ट नॉर्मल आई हैं. ऋषभ पंत की गाड़ी में भीषण आग लगी थी. इस दौरान सबसे पहले एक बस ड्राइवर सुशील और कंडक्टर परमजीत पहुंचे और ऋषभ पंत की जान बचाई.

ड्राइवर-कंडक्टर को किया सम्मानित

ऋषभ पंत की जान बचाने वाले बस ड्राइवर सुशील और कंडक्टर परमजीत को बड़ा इनाम दिया गया है. दोनों को पानीपत डिपो की तरफ से सम्मानित किया गया है. उत्तराखंड सरकार ने भी ये ऐलान किया है कि दोनों को बस ड्राइवर सुशील और कंडक्टर परमजीत को सम्मानित करेंगे. सरकार ने कहा दोनों ने मानवता के लिए सराहनीय काम किया है. उनका सम्मान जरूर होना चाहिए.

5-7 सेकंड की देरी होती तो...

बस कंडक्टर परमजीत ने कहा कि- जैसे ही हमने उसे बाहर निकाला तो 5-7 सेकेंड के बाद ही कार में आग लग गई और जलकर खाक हो गई. उनकी पीठ पर काफी चोटें आई थी जिसके बाद जब हमने उनसे पूछा कि वो कौन हैं, तब बताया कि वो क्रिकेटर ऋषभ पंत है. इस बयान से साफ है कि अगर 5-7 सेकेंड की देरी होती तो कुछ भी हो सकता था.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter