+

Rewa Murder Case: पत्नी का देवर से अफेयर, पति की हत्या कर डेढ़ साल तक छुपा कर रखी लाश

Riwa Murder Case: रीवा में प्रेम प्रसंग के चलते पत्नी बनी पति की दुश्मन, पत्नी के साथ पति का सगा भाई भी शामिल. पत्नी ने समोसे में जहर मिलाकर पति की हत्या कर दी. इतना ही नहीं सिर काटे शव को डेढ़ साल तक छिपा कर रखा गया था. इसमें भाई और चाचा भी शामिल थे. इतना ही नही सिर कटी लाश को भूसे में दबाकर डेढ़ साल तक छिपा कर रखा. पुलिस ने हत्या के आरोपित में पत्नी भाई समेत 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. जबकि 2 आरोपियों की तलाश की जा रही है.

मामला जिले के मऊगंज थाने का है पुलिस के अनुसार 40 वर्षीय मृतक रामसुशील पाल की पत्नी बिटोल उर्फ ​​रंजना पाल दूसरी पत्नी थी. रंजना का राम सुशील के भाई गुलाब पाल से अफेयर चल रहा था. साथ ही भाइयों के बीच संपत्ति का विवाद भी था. ऐसे में गुलाब पाल ने राम सुशील की हत्या की साजिश रची. इसमें पत्नी रंजना ने अच्छा साथ दिया. समोसे में जहर मिलाकर पति को खिलाया और मरने के बाद देवर गुलाब पाल की मदद से सिर काटकर धड़ को भूसे मे छिपा दिया

डेढ़ साल बाद जब भूसा खत्म होने लगा तो इन्होनें लाश को ठिकाने लगाने के लिए नर कंकाल को 25 अक्टूबर को जंगल में फेंक कर फरार हो गये. नर कंकाल मिलने के बाद पुलिस ने पड़ताल शुरू की. हत्या पर से उठा पर्दा पुलिस ने नर कंकाल को कब्जे में लेकर संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल में फोरेंसिक जांच की.

जांच में पता चला कि यह सिर वाला नर कंकाल रामसुशील का है. इस हत्याकांड में मृतक रामसुशील पाल की पत्नी भाई और चाचा आगे के सबूत मिटाने में शामिल थे. पुलिस को पता चला कि राम सुशील की पत्नी रंजना के बीच अक्सर झगड़े होते रहते थे. डेढ़ साल से घर और गांव में रामसुशील नजर नहीं आ रहे थे. मृतक की पत्नी घर में अकेली रह रही थी और बाद में उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर चली गई. पुलिस ने रंजना से पूछताछ की तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ. रंजना ने बताया कि दो साल से उसका अपने जीजा गुलाब पाल के साथ अफेयर चल रहा था.

परिवार में संपत्ति का विवाद था, इसलिए गुलाब पाल ने पति को जहर देकर जान से मारने की योजना बनाई. साथ ही समोसा चाट और चूहे मारने की दवा दी गई. योजना के तहत रंजना ने अपने पति रामसुशील को चाट खिलाई और उसकी मौत के बाद गुलाब को बताया. गुलाब अगले दिन अपने भाई अंजनी के साथ आया, रामसुशील का सिर काट दिया और शव को एक भूसे के घर में छिपा दिया. जमीन कम होने के कारण डेढ़ साल बाद नर कंकाल को बांध के किनारे जंगल में दबा दिया गया. पुलिस ने पत्नी रंजना पाल, भाई गुलाब पाल, अंजनी पाल और चाचा रामपति पाल को गिरफ्तार कर लिया है जबकि 2 आरोपी अभी भी फरार हैं. उनकी तलाश की जा रही है.

एसएसपी नवनीत भसीन ने बताया कि नर कंकाल मिलने के बाद पुलिस ने मऊगंज थाने में धारा 302, 201 का अपराध दर्ज कर जांच में लिया है. आरोपी पत्नी ने देवर के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी. पत्नी ने समोसे की चाट में जहर मिलाकर पति को खिलाया और लाश को बोरे में भरकर डेढ़ साल तक भूसे में छिपा कर रखा. साक्ष्य छिपाने के लिए नर कंकाल को जंगल में फेंक कर फरार हो गया. पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि 2 की तलाश जारी है।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter