+

फोन पर शूट कर रहा था राजू ठेहट का शूटआउट, शूटरों ने उसे भी गोलियों से भून डाला

Rajasthan Raju Hatyakand: 3 नवंबर को गैंग्स्टर राजू ठेहट की हत्या के वक़्त मौके पर एक शख्स मौजूद था, जो इस हत्याकांड को अपने कैमरे पर कैद कर रहा था, शूटरों ने उसे भी गोली से उड़ा दिया।

Raju Thehat Murder: 3 दिसंबर (December) को राजस्थान के सीकर में सर्दी के दिनों में लोगों ने दिन दहाड़े गर्मी का अहसास किया। क्योंकि राजस्थान के इस शहर से एक ऐसी खबर सामने आई जिसकी वजह से शहर के आम लोगों से लेकर पूरे इलाके की पुलिस (Police) तक परेशान हो गई थी।

यहां के नामी गैंग्स्टर (Gangster) राजू ठेहट की गोली मारकर हत्या (Murder) की गई थी। और सिर्फ गोली ही नहीं मारी गई थी बल्कि गोलियों से राजू ठेहट को क़रीब क़रीब छलनी (Shoot) कर दिया था। क्योंकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट (Postmortem) से पता चला है कि राजू ठेहट के शरीर से एक दो नहीं पूरी 25 गोलियां निकली हैं।

लेकिन इसी बीच इस शूटआउट की एक ऐसी बात सामने आई है जिसने सभी को बुरी तरह से चौंका कर रख दिया। असल में जहां राजू ठेहट का शूटआउट हुआ था वहीं एक और लाश पुलिस को मिली थी। वो लाश वहां पास ही रहने वाले एक शख्स की थी जिसकी पहचान ताराचंद के तौर पर हुई है।

बताया जा रहा है कि जिस वक़्त बदमाश राजू ठेहट को गोलियों से छलनी कर रहे थे...ताराचंद उस वाकये को अपने मोबाइल के कैमरे में क़ैद कर रहा था। बदमाशों ने उसे देखते ही सीधे गोली मार दी। जबकि कैलाश नाम के एक दूसरे शख्स के पैरों में गोली लगी है। हालांकि उसकी जान बच गई।

मौके से मिली जानकारी के मुताबिक जो राजू ठेहट की हत्या करने वाले शूटरों का ताल्लुक हरियाणा से बताया जा रहा है। हालांकि शूटआउट के वक़्त किसी भी बदमाश ने अपना चेहरा किसी भी तरह के नकाब से नहीं ढका था और वो खुलेआम गोली बरसाते हुए मौके से फरार हुए थे।

मौके से पुलिस को 50 से ज़्यादा खोखे मिले हैं। इससे इस बात का भी अंदाज़ा मिल जाता है कि हत्या में शामिल बदमाश किस दिलेरी से राजू ठेहट को उसी के ठिकाने पर घुसकर गोली मारने पहुँचे थे।

Rajasthan Murder Case: पुलिस के सूत्रों से पता चला है कि राजू ठेहट पर हत्या, लूट और अपहरण के कई मामले दर्ज थे मगर बीते काफी अरसे से राजू ठेहट सीकर में शराफत की ज़िंदगी बसर कर रहा था। राजू ठेहट के नज़दीकी सूत्रों से पता चला है कि उसने 2023 में विधानसभा का चुनाव लड़ने की तैयारी कर ली थी।

पुलिस को इस हत्याकांड में गैंगवॉर की आशंका दिखाई देती है। क्योंकि इस हत्या के तार पंजाब के गैंग्स्टर लॉरेंस बिश्नोई गैंग से जुड़ते दिखाई दे रहे हैं। और जिस तरीके से राजू ठेहट को उसके ही ठिकाने पर घुसकर गोलियों से छलनी किया गया वो भी तरीका पंजाब के गैंग से मिलता जुलता है।

ठीक उसी तर्ज पर जैसे सिद्धू मूसेवाला को गोलियों से उड़ाया गया था। असल में इस शूटआउट के कुछ देर बाद ही सोशल मीडिया पर एक पोस्ट थी। ये पोस्ट रोहित गोदारा की तरफ से की गई ती जिसमें लिखा ता कि राजू ठेहट ही आनंदपाल और बलबीर बानूड़ा की हत्या के पीछे था। ऐसे में ये उसी का बदला था।

सूत्रों से मिली खबरों पर यकीन किया जाए तो रोहित गोदारा ने लॉरेंस बिश्नोई गैंग से जुड़े होने का भी दावा किया है। सभी जानते हैं कि लॉरेंस बिश्नोई इन दिनों पुलिस के कब्जे में हैं और जेल में बैठा है। लॉरेंस बिश्नोई पर ही सिद्धू मूसेवाला मर्डर का मास्टरमाइंड होने का संगीन आरोप भी है।

दिल्ली पुलिस और पंजाब पुलिस लॉरेंस बिश्नोई गैंग के बारे में ये तो जान ही चुकी है कि लॉरेंस गैंग का एक सिरा कनाडा के गैंग्स्टर गोल्डी बराड़ से जाकर मिलता है। और पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला का मर्डर भी लॉरेंस बिश्नोई के प्लान के हिसाब से गोल्डी बराड़ ने ही करवाया।

Rajasthan Crime : उधर सीकर में राजू ठेहट की हत्या के बाद उसका शव अभी तक सीकर के सरकारी अस्पताल के मुर्दाघर में रखा गया है। सीकर में वीर तेजा सेना ने इस हत्याकांड का विरोध करते हुए बेमियादी सीकर बंद की घोषणा कर दी है।

सेना की तरफ से कहा गया है कि जबतक राजू ठेहट के हत्यारे पकड़े नहीं जाते तब तक उसका अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। बताया यही जा रहा है कि इस तरीके से इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया उसको लेकर पूरे सीकर में लोगों में जबरदस्त गुस्सा है।

सेना की तरफ से ये भी कहा गया है कि बदमाशों ने जिस तरह खुलेआम राजू ठेहट की उनके घर पर आकर हत्या की, और खुलेआम फायरिंग करते हुए भाग निकले उससे यही अंदाजा लगता है कि उन्हें पकड़े जाने का कोई डर नहीं था। इसी लिए उनमें से किसी ने अपना चेहरा तक नहीं ढक रखा था।

सीकर के लोग राजस्थान पुलिस की ढीलाई को लेकर बेहद गुस्से में हैं। उधर पुलिस का कहना है कि शूटआउट में शामिल शूटरों को पकड़ने के लिए राजस्थान से लगती पंजाब और हरियाणा की सीमा को सील कर दिया गया था। हालांकि अभी तक राजू ठेहट के शूटरों का पुलिस को कोई भी सुराग नहीं मिला है।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter