+

Delhi Crime: दिल्ली पुलिस ने किया हनीट्रैप गैंग का खुलासा, रियल लाइफ के बंटी-बबली गिरफ्तार

Delhi Crime News: दिल्ली पुलिस के दक्षिणी जिले (South Delhi) की साइबर पुलिस (Cyber Police) ने राखी उर्फ़ कशिश और संतोष कुमार भगत को गिरफ्तार (Arrest) किया है। पूछताछ में दोनों आरोपियों ने खुलासा किया कि वे बॉलीवुड के बंटी और बबली के किरदारों की तरह क्राइम पार्टनर बने थे। दोनों इस तरह के अपराध को अंजाम देने में एक-दूसरे की मदद करते थे।

आरोपी कशिश उर्फ राखी ने खुलासा किया कि वह सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे Badoo, Hi5, Wink and Tagged पर युवकों के साथ चैट करती थी और बाद में उन्हें अकेले में मिलने के लिए कहती थी। जब कशिश के जाल में शिकार फंस जाता था तब उसे मिलने के लिए किसी रुम में बुलाया जाता था। यहां पर युवक को बेहोशी का दवा दी जाती थी।

पीड़ित बेहोश होते ही यह आरोपी लूटपाट कर फरार हो जाते थे। उसने यह भी स्वीकार किया कि उसने एक ही तरीके से 20 से अधिक लोगों के साथ ठगी की वारदात को अंजाम दिया है। दरअसल बीती 4 अक्टूबर को साइबर थाने में हनी ट्रैप के जरिए से ठगी करने की शिकायत मिली थी।

जिसमें शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि टैग्ड नाम के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कशिश शुक्ला नाम की लड़की से उसकी दोस्ती हुई। कुछ समय बाद दोनों एक दूसरे के करीब आ गए। एक दिन कशिश शुक्ला ने उनसे मिलने की गुजारिश की। शिकायतकर्ता ने उसे अपने घर आने को कहा, जिस पर वह राजी हो गई। वे नीलम चौक पर मिले और शिकायतकर्ता सुबह करीब 11 बजे उसे अपने घर ले आया।

घर में कशिश ने पीड़ित को कोल्ड ड्रिंक पिलाई। इसे पीने के बाद पीड़ित बेहोश हो गया। कुछ देर बाद जब उसे होश आया तो उसने पाया कि उसका मोबाइल फोन, उसका बटुआ जिसमें उसका पीएनबी एटीएम कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और पैन कार्ड और एक जोड़ी पायल, एक सोने की अंगूठी, चांदी का गिलास, एक चांदी का कंगन, एक घड़ी, एक जोड़ी सोने की बाली, चांदी के पांच जोड़े बिछुआ उसके घर से गायब थे। उसके मोबाइल फोन से रुपये  1,23,000/- की राशि के कुछ लेनदेन भी कशिश ने किये थे।

जाँच में सबसे पहले पुलिस ने खातों की जाँच की जिसमें आरोपियों ने  पीड़ित के मोबाइल फोन का उपयोग करके लेनदेन किया गया था। पुलिस ने आरोपियों के फोन नंबरों की सीडीआर भी खंगाली। सीडीआर और नंबरों की लोकेशन से पता चला कि आरोपी लगातार अपना ठिकाना फरीदाबाद से मसूरी और फिर मसूरी से कानपुर में बदल रही थी। जिसके बाद कशिश की फरीदाबाद में होने का पता चला।

पुलिस ने कशिश उर्फ राखी को फरीदाबाद के ओयो होटल से गिरफ्तार कर लिया। उसके साथ संतोष नाम का एक व्यक्ति भी था जो कशिश उर्फ राखी के साथ भी इस तरह के अपराध करने में शामिल था। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से आठ मोबाइल फोन, पैन, यूआईडीएआई और डेबिट सहित 20 कार्ड, 15000/- नकद, चार पर्स, अल्प्राजोलम की अठारह गोलियां और 250 ग्राम अल्प्राजोलम पाउडर बरामद किया गया है।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter