+

Kanpur Double Murder: आशिक़ ने पकड़ा मम्मी-पापा का हाथ फिर बेटी ने चॉपर से काटा गला,पुलिस के आगे दहाड़े मार रोई ढोंगी बेटी

Kanpur double murder: 5 जुलाई रात के करीब 2:30 बजे. कोमल चीखती है,भैया जल्दी नीचे आओ ये देखो क्या हो गया. बहन की ऐसी चीख पुकार सुन ऊपर वाले कमरे में सो रहे अनूप की नींद टूटी और वो सरपट नीचे की ओर भागा. कोमल की आंखों में आंसूं और माथे पर पसीना देख वो डर गया. अनूप ये सब देख कुछ समझ पाता कि उससे पहले कोमल बोल पड़ी भैया, मम्मी-पापा को क्या हो गया. घबराए और डरे सहमे अनूप ने जैसे ही कमरे में नज़र घुमाई तो सामने बिस्तर पर मां-बाप की ख़ून से सनी लाश देख उसके पैरों तले ज़मीन खिसक गई. एक तरफ कमरे में ख़ून फैला है मम्मी-पापा की लाश पड़ी है और दूसरी तरफ़ बहन कोमल को रोता देख अनूप के लिए खुद को संभालना मुश्किल हो गया.

लेकिन बहन को संभालते अनूप को उस वक़्त कहां पता था कि उसके पीठ पीछे कितना बड़ा षड्यंत्र खेला गया है. अनूप बेखबर था कि उसके ही घर में उसकी ही नाक के नीचे इतनी बड़ी वारदात को अंजाम देने वाला शख़्स गैर नहीं है. चलिए एक एक कर आपको कानपुर में हुए इस डबल मर्डर केस की कहानी समझाते हैं.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter