+

CHENNAI CRIME: वो पति, ब्वॉयफ्रेंड और पहले लवर तीनों के साथ रहना चाहती थी इसलिए एक का मरना ज़रूरी हो गया!

MURDER MYSTREY: चेन्नई के कांचीपुरम जिले की पुलिस उन दिनों एक गुमशुदगी के केस को सुलझाने में अपने जूते घिस ही रही थी, कि इलाके के एक पुराने कुएं से पत्थर से बंधी लाश मिली. लाश की हालत देखकर पुलिस को इतना तो समझ आ गया था कि ये मामला क़त्ल का है.

किसी ने बड़ी साजिश से क़त्ल की इस वारदात को अंजाम दिया और फिर लाश को एक बड़े से पत्थर के साथ बांधकर कुएं के अंदर फेंका ताकि लाश पूरी तरह से नीचे बैठ जाए और किसी को भी इस क़त्ल के बारे में कोई ख़बर न लगे.

सांकेतिक चित्र

पुलिस के सामने एक आदमी की लाश तो थी पर उसकी कोई जानकारी नहीं. जब शिनाख़्त की गई तो पता चला की ये लाश 32 साल के रामू की है. उसी रामू की जिसकी पत्नी ने कुछ दिन पहले इसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी और पुलिस उसी गुमशुदगी के केस को सुलाझाने में लगी हुई थी.

अब पुलिस को क़त्ल की इस सनसनीख़ेज़ वारदात से पर्दा हटाना था. रामू की कॉल डिटेल, ऑफिस कलीग हर जगह से जांच पड़ताल की गई तो इश्क़ और वासना की ऐसी ख़ौफ़नाक कहानी सामने आई जिसे सुनकर हर किसी के रौंगटे खड़े हो गए.

सांकेतिक चित्र

32 साल का रामू अपनी 31 साल की पत्नी रेनुका और 2 बच्चों के साथ बड़े ही आराम से गुज़र बसर कर रहा था. इसकी शादी को 13 साल बीत चुके थे. सब अच्छा खासा ही चल रहा था कि 6 साल पहले रामू की ज़िंदगी में महालक्ष्मी नाम का ऐसा तूफ़ान आया जिसने सबकी ज़िंदगी में तबाही ला दी. महालक्षमी रामू के ऑफिस में काम करने वाली उसकी साथी थी और पिछले 6 साल से वो रामू की गर्लफ्रेंड भी थी.

इन दोनों की मोहब्बत इस क़दर खुल्लेआम परवान चढ़ी कि इसका पता रामू की पत्नी रेनुका और महालक्षमी के 39 साल के पति मणि को भी लग गया. रेनुका ने कई बार दोनों को समझाने की कोशिश भी की पर ना रामू को अपनी पत्नी की एक भी बात समझ आई और ना ही महालक्ष्मी को. कुछ दिन बीते तो महालक्षमी की ज़िंदगी में 21 साल का दिनेश दस्तक देता है. महालक्ष्मी उसकी तरफ आकर्षित हो गई. धीरे-धीरे दोनों में नज़दीकियां बढ़ीं.

अब महालक्ष्मी एक ही समय में अपने पति मणि, पहला प्रेमी रामू और दूसरे आशिक़ दिनेश के साथ रिश्ता रखे हुई थी. ना वो दिनेश के करीब जाने से खुद को रोक पा रही थी,ना रामू के साथ वक़्त बिताना कम कर रही थी और ना अपने पति को छोड़ पा रही थी. दिनेश को रामू के साथ मालक्ष्मी की नज़दीकी अब चुभने लगी. महालक्ष्मी के नए आशिक़ ने कई बार उसे रामू से अलग हो जाने को कहा लेकिन उसने हर बार यही कहा कि वो तीनों के साथ रहना चाहती है. वो ना अपने पति को छोड़ सकती है ना रामू को और ना ही दिनेश को.

सांकेतिक चित्र

महालक्ष्मी के इसी रवैये के कारण दिनेश के मन में रामू के खिलाफ़ नफ़रत पैदा हो गई. वो अब रामू को किसी भी हालत में रास्ते से हटाना चाहता था. दिनेश ने रामू को जान से मारने का प्लान तो पहले ही तैयार कर लिया था. लेकिन इसके लिए उसे महालक्ष्मी के पति का साथ भी चाहिए था. प्लान के मुताबिक दिनेश ने महालक्ष्मी के पति मणि से बात की और उसे इस वारदात को अंजाम देने के लिए तैयार कर लिया.

सांकेतिक चित्र

प्लान के मुताबिक रविवार की रात यानी 4 जुलाई 2021 को मणि महालक्ष्मी का ऑफिस कलीग होने के नाते रामू को ड्रिंक पर इनवाइट करता है. रामू के वहां पहुंचने पर दिनेश और उसके कुछ दोस्त क़त्ल की इस ख़ौफ़नाक वारदात को अंजाम देने के लिए पहले से तैयार रहते हैं.

रामू जैसे ही नशे की ज़द में पहुंचता है मणि ने उसपर दराती से हमला बोल दिया और दिनेश और उसके साथी उस पर तबतक वार करते रहे जब तक उसकी सांसें नहीं टूट गईं.

रामू की मौत के बाद क़ातिलों ने उसकी लाश को एक बड़े पत्थर से बांध कर कुएं में फेंक दिया. फिलहाल पुलिस महालक्ष्मी के पति मणि, आशिक़ दिनेश और उसके 4 साथियों को गिरफ़्तार कर आगे की कार्रवाई में जुट गई.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter