+

क्या होती है Z + सिक्योरिटी ? What is Z+ Security?

Mukesh Ambani Security: मुकेश अंबानी को Z plus सिक्योरिटी दी गई है। अब वो देश के चुनिंदा 40-45 लोगों में से एक हैं, जिसे देश का दूसर सर्वोच्च सिक्योरिटी लेवल हासिल हैं। क्या होती है Z + सिक्योरिटी ?

क्या होती है Z + सिक्योरिटी ? What is Z+ Security?

जेड प्लस (Z Plus or Z+) स्तर की सुरक्षा उन महत्वपूर्ण लोगों को मिलती है, जो देश के लिए बेहद जरूरी हैं या जिसको धमकी मिली हुई है। जिनके जाने से बड़ा नुकसान हो सकता है, उन्हें भी ये सिक्योरिटी मिलती है।

What is Z+ Security?

इसके तहत VVIP के चारों तरफ 58 जवान सुरक्षा में तैनात रहते हैं। पांच या उससे ज्यादा बुलेटप्रूफ कारें भी होती हैं। 10 NSG या आर्म्ड स्टैटिक गार्ड होते हैं। 15 पुलिस कमांडो, 6 PSO, 24 जवान, 5 वॉचर्स, एक इंस्पेक्टर या सब इंस्पेक्टर बतौर इंचार्ज होता है। VVIP के घर आने-जाने वाले लोगों की जांच के लिए 6 जवान और छह प्रशिक्षित ड्राइवर भी होते हैं।

क्या होती है Z कैटेगरी सिक्योरिटी ? What is Z Catagory Security?

Z कैटेगरी की सुरक्षा में 22 सुरक्षाकर्मी होते हैं। 4 से 6 NSG कमांडो होते हैं। पुलिस या CRPF के जवान रहते हैं।

Y+ कैटेगरी सिक्योरिटी क्या है ? What is Y+ Category Security?

Y+ कैटेगरी की सुरक्षा काफी अहम सुरक्षा कवच है। इसमें 11 सुरक्षाकर्मियों के अलावा एस्कॉर्ट वाहन भी रहता है। एक गार्ड कमांडर और चार गार्ड आवास पर भी तैनात होते हैं।

Y कैटेगरी सिक्योरिटी क्या है ? What is Y Category Security?

वाई कैटेगरी में 11 जवान तैनात होते हैं। एक या दो कमांडो और दो पीएसओ भी रहते हैं।

क्या होती है X लेवल की सिक्योरिटी ? What is X Catagory Security?

इसमें दो सुरक्षाकर्मी होते हैं। एक पर्सनल सिक्योरिटी ऑफिसर (PSO) होता है।

SPG सिक्योरिटी क्या होती है ? What is SPG Security?

यह सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के पास है। इसमें कितने कमांडों या जवान होते हैं, इसका खुलासा सुरक्षा कारणों से नहीं बताया गया है। ये माना जाता है कि 24 से 30 कमांडो हमेशा पीएम की सुरक्षा में रहते हैं।

किस आधार पर मिलती है वीआईपी सिक्योरिटी ? Who gets this kind of VIP security?

किसे सिक्योरिटी मिलेगी ? , किसे नहीं ? ये तय राज्य सरकार करती है। अगर किसी को आतंकियों या उग्रवादियों से धमकी मिल रही है या खतरा है। माफिया या गैंगस्टर्स से जान का खतरा है तो सिक्योरिटी दी जाती है। खतरे के आधार पर ही सिक्योरिटी बढ़ाई या घटाई जाती है या फिर वापस ले ली जाती है। ये काम सिक्योरिटी एक्सपर्ट की दो कमेटियां करती हैं।

केंद्र सरकार किन VVIPs को देती है सुरक्षा ? Which VVIPs are protected by the central government?

केंद्र सरकार प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस जैसे सरकारी पदों पर तैनात बड़े अफसरों को सुरक्षा प्रदान करती है। केंद्र सरकार ने सिक्योरिटी की पांच कैटेगरी बना रखी है। इसमें X, Y, Y+, Z और Z+ शामिल है।

देश में कितने लोगों को मिली है सुरक्षा ? How many people have got security in the country?

पिछले साल 9 मार्च को लोकसभा में गृह राज्य मंत्री ने बताया था कि 230 लोग ऐसे हैं जिन्हें केंद्र सरकार सुरक्षा दे रही है। राज्य सरकारें 19 हजार से ज्यादा लोगों को सिक्योरिटी देती हैं।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter