+

Wagner Group : यूक्रेन केे राष्ट्रपति की सुपारी लेने वाला वैगनर ग्रुप की ये है पूरी कहानी

Story of Russian Wagner Group: रूस यूक्रेन में जारी युद्ध के बीच ऐक ऐसी खबर सामने आ रही है, जिसे सुनकर लोगों ने एक शक्तिशाली देश को कमजूर कहने का मौका दे दिया. ये खबर रूस से जुड़ी है, ऐसी खबर आ रही है की जंग के बीच रूस के भाड़े के सैनिक भी युद्ध में हिस्सा ले रहे हैं.

What is Wagner Group in hindi

द टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार 400 से ज्यादा किराय के रूसी सैनिक यूक्रेन में हमले की तैयारी में हैं, इन सैनिकों का निशाना राष्ट्रपति जेलेंस्की और उनके कैबिनेट के मंत्री हैं. ये सैनिक निजी मिलिशिया वैगनर ग्रुप के लिए काम करते हैं. वैसे तो ये निजी ग्रुप होने के कारण ये आधिकारिक रूप से रूसी सरकार के लिए नहीं काम करता है.

क्या है वैगनर ग्रुप? (What is Wagner Group?)

वैहनर ग्रुप एक निजी मिलिशिया है. इसका काम पैसे लेकर भाड़े के सैनिक देना है. इस ग्रुप के लड़ाके अपनी बेदर्दी के चलते दुनियाभर में बदनाम हैं.

इसमें अधिकतर लड़ाके रूसी सेना में काम कर चुके सैनिक हैं. अच्छी तरह ट्रेन्ड किए गए ये लड़ाके रूस के ले उन जगहों पर जंग लड़ते हैं जहां रूस प्रत्यक्ष रूप से अपनी सेना नहीं भेज सकता.

येवगेनी प्रिगोझिन

वैगनर ग्रुप की स्थापना

What is Wagner Group in hindi : वैगनर ग्रुप की स्थापना कथित तौर पर दिमित्री यूटकिन ने की थी. वह एक पूर्व विशेष बल कर्नल और चेचन्या में दो युद्धों के एक अनुभवी थे. दिमित्री उत्किन एडॉल्फ हिटलर को अपना आदर्श मानते थे. उसने हिटलर के पसंदीदा ओपेरा संगीतकार रिचर्ड वैगनर के नाम पर समूह का नाम रखा. माना जाता है कि इस समूह का मालिक येवगेनी प्रिगोझिन है. प्रिगोझिन को पुतिन का रसोइया भी कहा जाता है. उनके पुतिन के साथ घनिष्ठ संबंध हैं. उनके पास रेस्तरां और खानपान कंपनियां हैं. हालांकि यह भी कहा जाता है कि वह सिर्फ एक मुखौटा है.

वैगनर ग्रुप पैसे के लिए काम करता है

What is Wagner Group : वैगनर ग्रुप तानाशाहों और सरकारों को भाड़े के सैनिक उपलब्ध कराने के लिए पैसे लेता है। वैगनर ग्रुप का नाम सबसे पहले 2014 में सुर्खियों में आया था। इस ग्रुप ने क्रीमिया पर कब्जे के दौरान रूसी सेना की मदद की थी.

तब से, वैगनर का नाम मोज़ाम्बिक, लीबिया, सीरिया, मध्य अफ्रीकी गणराज्य, माली, सूडान और मेडागास्कर जैसे देशों में दिखाई दिया. इनमें से कुछ देश गृहयुद्ध से जूझ रहे हैं, जबकि अन्य अस्थिरता में हैं. वैगनर ग्रुप इन देशों में फाइटर्स और ट्रेनर्स भेजकर एक तरफ की मदद करता है, और बदले में पैसे लेता है. कुछ मामलों में तेल, सोने और हीरे की खदानों को लेकर भी सौदे हुए हैं.

2017 में, एक सीरियाई सेना के भगोड़े की बर्बरता और सिर कलम करने के लिए वैगनर समूह का नाम सामने आया. इस समूह का नाम मध्य अफ्रीकी गणराज्य में व्यापक बलात्कार और डकैती की घटनाओं से भी आया है. सीरिया में, समूह सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद के लिए काम कर रहा था. 2018 में, सीरिया में अमेरिकी नेतृत्व वाली गठबंधन सेना ने वैगनर से जुड़े 300 लड़ाकों को मार गिराया.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter