+

National Crime Record Bureau: देश में हर दिन 450 लोग करते हैं खुदकुशी!

NCRB REPORT 2021:2020 की तुलना में 2021 में आत्महत्या करने वालों की संख्या में 7% बढ़ गई है। पिछले साल देशभर में 1.64 लाख से ज्यादा लोगों ने आत्महत्या कर ली। हर दिन औसतन 450 लोगों ने खुद की जान ली है।

NCRB Data on Suicide Cases in India: देश में हर दिन 450 लोग खुदकुशी कर रहे हैं। ये आंकड़ा डरा रहा है। डरा इसलिए रहा है, क्योंकि इसमें लगातार इजाफा हो रहा है। साल 2017 से लेकर 2021 तक के आकंड़ों पर नजर डाले तो पता चलेगा कि खुदकुशी के केसों में करीब 26 फीसदी का इजाफा हुआ है।

NCRB के डाटा के मुताबिक, 2021 में देशभर में 1.64 लाख से ज्यादा लोगों ने खुद की जान ले ली, वहीं 2020 में 1.53 लाख लोगों ने सुसाइड की थी। ये आंकड़ा 2020 की तुलना में 7.2% ज्यादा है। डाटा के मुताबिक, 2017 से लेकर 2021 तक, आत्महत्या करने वालों की संख्या 26% से ज्यादा बढ़ गई।

सुसाइड की क्या है वजहें ? Reasons For Suicides ?

पारिवारिक समस्याएं और बीमारी (एड्स, कैंसर आदि) से तंग आकर लोग सबसे ज्यादा आत्महत्या करते हैं। पिछले साल 33% सुसाइड फैमिली प्रॉब्लम और 19% बीमारी की वजह से हुई हैं।

खुदकुशी में महाराष्ट्र नंबर 1

रिपोर्ट के मुताबिक, देश में सबसे ज्यादा आत्महत्या महाराष्ट्र में हुई। महाराष्ट्र में पिछले साल 22,207 लोगों ने सुसाइड किया था। इसके बाद तमिलनाडु में 18,925 और मध्य प्रदेश में 14,965 लोगों ने आत्महत्या कर जान दे दी। दिल्ली में 2,840 लोगों ने आत्महत्या की थी।

किस उम्र में खुदकुशी की घटनाएं ज्यादा हुई ?

National Crime Record Bureau: किस उम्र में खुदकुशी की ज्यादा घटनाएं हुई। इसका भी आंकड़ा सामने आया है। 18 से 30 साल के 56,543 युवाओं ने आत्महत्या की थी, वहीं, 30 से 45 साल के 52,054 और 45 से 60 साल के 30,163 लोगों ने सुसाइड किया था। 18 साल से कम उम्र के 10,732 लोगों ने आत्महत्या कर ली थी।

कितने फीसदी बेरोजगारों ने अपनी जिंदगी खत्म की ?

आकंड़ों के मुताबिक, आत्महत्या करने वाले 64% यानी 1.05 लाख लोग ऐसे थे, जिनकी सालाना कमाई 1 लाख रुपये से भी कम थी। 32% लोग ऐसे थे जिनकी कमाई सालभर में 1 से 5 लाख के बीच थी। सुसाइड करने वालों में 25% से ज्यादा लोग ऐसे थे जो दिहाड़ी मजदूरी करते थे। 14% से ज्यादा हाउस वाइव्स थीं। 12% से ज्यादा लोग ऐसे थे जो खुद का काम करते थे, जबकि 8.4% बेरोजगार थे।

National Crime Record Bureau: एक आकंड़े के मुताबिक, दुनिया में हर वर्ष 7 लाख से ज्यादा लोग खुदकुशी करते हैं। 15 से 29 साल के युवाओं के बीच मौत की चौथी सबसे बड़ी वजह आत्महत्या है। ऐसे में खुदकुशी के ये आंकड़ें वाकई डरा रहे हैं।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter