+

सोने की शुद्धता को कैसे पहचाना जाता है ? How is the purity of gold recognized?

दीवाली के आसपास सोने की डिमांड क्यों बढ़ जाती है और क्यों सोना महंगा हो जाता है ? आइये जानते है इस रिपोर्ट से, लेकिन इससे पहले सोनी की शुद्धता के बारे में कुछ बातें जान लेते हैं।

सोने की शुद्धता को कैसे पहचाना जाता है ? How is the purity of gold recognized?

ज्वेलरी शुद्ध है या नहीं, इसे मापने का एक तरीका है। हॉलमार्क निशानों के जरिए ज्वेलरी की शुद्धता को पहचाना जा सकता है। इसमें एक कैरेट से लेकर 24 कैरेट तक का पैमाना होता है। अब सवाल उठता है कि कैरेट क्या होता है ?

कैरेट किसी भी सोने के आभूषण की शुद्धता की माप के लिए इस्तेमाल किया जाता है। ज्वेलरी बनाने के लिए 22 कैरेट के सोने का इस्तेमाल किया जाता है। उसमें 916 लिखा होगा। 24 कैरेट का सोना शुद्ध सोना माना जाता है। उस पर 999 लिखा होगा।

21 कैरेट की ज्वेलरी पर 875 लिखा होगा। 18 कैरेट की ज्वेलरी पर 750 लिखा होता है। 14 कैरेट की ज्वेलरी होगी तो उसमें 585 लिखा होगा।

GOLD

24 से लेकर 18 कैरेट में क्या होता है फर्क ? What is the difference between 24, 22, 21, 18 and 14 carats?

22 कैरेट के गोल्ड में 91.67 प्रतिशत शुद्ध गोल्ड होता है, अन्य 8.33 प्रतिशत में दूसरे धातु होते हैं। वहीं, 21 कैरेट गोल्ड में 87.5 प्रतिशत शुद्ध सोना होता है। 18 कैरेट में 75 प्रतिशत शुद्ध सोना होता है और 14 कैरेट गोल्ड में 58.5 प्रतिशत प्योर गोल्ड होता है।

दीवाली के आसपास सोने की डिमांड क्यों बढ़ जाती है और क्यों सोना महंगा हो जाता है ? Why does gold become expensive before Dussehra ?

Festival सीजन के वजह से ये डिमांड बढ़ जाती है। साथ साथ भारत में कोरोना संक्रमण की दरों में हो रही कमी से भी दुकान और शोरूम में जाकर सोने की खरीदारी करने में तेजी की उम्मीद की जा रही है।

आज सोना का भाव क्या है ? What is the price of gold today?

आज, 3 अक्टूबर की सुबह सोने और चांदी दोनों के ही दाम बढ़ गए हैं। 999 प्योरिटी वाला दस ग्राम सोना बढ़त के साथ 50391 रुपये तक आ गया है, जबकि 999 प्योरिटी वाली एक किलो चांदी का भाव बढ़कर 57268 रुपये प्रति किलो पहुंच गया है।

शेयर करें
Tags :
Whatsapp share
facebook twitter