+

Cyber Crime : बिजली काटने वाला फ्रॉड मैसेज ऐसे करता है खाता खाली, इस ट्रिक से समझें ठगों की चाल

Cyber Crime : क्या आप स्मार्टफोन से ऑनलाइन पेमेंट करते हैं? क्या आप इंटरनेट इस्तेमाल करते हैं? क्या आप सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, वॉट्सऐप पर एक्टिव रहते हैं? क्या आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं? पैसों का लेनदेन ऑनलाइन करते हैं. तो ये खबर आपके लिए बेहद जरूरी है. जाहिर है इस खबर को ऑनलाइन पढ़ने वाले 95 फीसदी से ज्यादा लोग ऐसा ही करते होंगे. तो ये जान लीजिए कि हम और आप जैसे लोग ही साइबर ठगों के निशाने पर सबसे ज्यादा हैं. इसलिए उनसे बचने का एकमात्र तरीका है हमारी जागरूकता.

आपकी मेहनत की कमाई के एक-एक रुपये को साइबर फ्रॉड से बचाने के लिए CRIME TAK ने एक मुहिम शुरू की है. नाम है ‘मेड इन कंगाल : पढ़ोगे तो बचोगे’. मेड इन कंगाल इसलिए कि जैसे जैसे मेड इन चाइना प्रोडक्ट देखने में बाहर से भले ही खूबसूरत लगते हैं लेकिन कहीं ना कहीं वो अंदर से चकमा दे रहे होते हैं.

उसी तरह ये साइबर फ्रॉड आपको कभी लालच देकर तो कभी घर बैठे पैसे कमाने का सपना दिखाकर तो कभी डराकर आपको फंसाते हैं और फिर पूरा बैंक खाता ही खाली कर देते हैं. इसलिए क्राइम तक ना सिर्फ आपको ऐसे क्राइम के बारे में बताएगा बल्कि साथ में इससे बचने के टिप्स भी देगा. आज इस सीरीज के पहले एपिसोड में बिजली कनेक्शन बंद करने के नाम पर होने वाले फ्रॉड के बारे में जानेंगे. कैसे घर की बिजली गुल यानी अंधेरा करने के नाम पर ये ठग हमारे बैंक खाते को खाली कर रहे हैं.

cyber crime news

Cyber Crime : ऐसे हो रहा बिजली बिल कनेक्शन काटने के नाम पर फ्रॉड

दिल्ली के मयूर विहार में रहने वाले आशीष के पास 28 सितंबर 2022 को वॉट्सऐप पर एक मैसेज आया. ये मैसेज किसी अज्ञात नंबर से आया था. उसमें लिखा था...

डियर कस्टमर, इलेक्ट्रिसिटी ऑफिसर द्वारा आपके बिजली कनेक्शन को आज रात साढ़े 9 बजे बंद कर दिया जाएगा. क्योंकि आपका पिछला बिजली बिल अपडेट नहीं हुआ है. इसे तुरंत अपडेट कराने के लिए इलेक्ट्रिसिटी ऑफिसर के नंबर 9142232570 पर संपर्क करें.
electricity Bill update Fraud SMS

आशीष को ये मैसेज शाम के करीब 5:47 बजे मिला था. ये देखते ही वो चौंक गए. उस समय वो ऑफिस से निकल रहे थे. मैसेज देखकर सोचा कि अगर अभी बिजली विभाग को फोन पर अपडेट नहीं कराया तो रात होते ही कनेक्शन कट जाएगा. इसलिए उस नंबर पर कॉल किया. कॉल करते ही एक शख्स ने कहा कि हां वो बिजली विभाग से बोल रहा है. आपको मिले मैसेज में क्या लिखा है. आशीष ने बताया कि पुरानी बिल अपडेट नहीं हुआ है. ये सुनकर बिजली विभाग का ऑफिसर बना शख्स कहता है कि हां मैं सिस्टम पर देख रहा हूं कि आपका बिल अपडेट नहीं है.

आपने आखिरी बिल पेमेंट किया था. आशीष ने कहा, हां मैंने तो कर दिया था. मेरा कोई बिल पेंडिंग नहीं है. इस पर वो शख्स कहता है कि आपने कैसे पेमेंट किया था. ऑनलाइन या बिजली ऑफिस में जाकर. आशीष ने बताया कि ऑनलाइन पेमेंट किया था. इस पर वो शख्स कहता है कि हो सकता है कि आपने पेमेंट किया है लेकिन ऑफिस में अपडेट नहीं है. इसलिए आप चाहे तो फोन पर बात करते हुए अभी अपडेट करा लीजिए. फिर रात में आपका कनेक्शन नहीं कटेगा.

अब आशीष सोचते हैं कि अच्छा है कि फोन पर ही बात करते हुए ऑनलाइन सब अपडेट हो जाएगा. इसलिए उस बिजली अफसर से पूछते हैं कि हमें क्या करना है. मतलब, कैसे अपडेट कराऊं अपना बिजली बिल. तो वह बताता है कि आपको गूगल प्ले स्टोर में जाना है. उसके सर्च में लिखना Electricity Bill AnyDesk.  ये टाइप करने पर एनी डेस्क (ANY DESK) का ऑप्शन मिलेगा. उसे डाउनलोड कर ओपन करते ही 9 डिजिट का रेफरेंस कोड आ रहा होगा. उसे बता दीजिए. अब आशीष ने 9 नंबर का कोड बता दिया. कुछ देर बाद ही उस शख्स ने कहा कि अब आप अपने पेटीएम या फोन पे से फिर से 10 रुपये का बिजली बिल का पेमेंट कीजिए. उससे पुराना बिल भी अपडेट हो जाएगा.

आशीष ने 10 रुपये का पेमेंट कर दिया. इसके कुछ देर बाद ही उनके फोन पर मैसेज आता है. उनके अकाउंट से 62 हजार रुपये का ट्रांजेक्शन हुआ था. खाते में कुल 62 हजार 21 रुपये थे. बस खाते में 21 रुपये बचे थे. अब उन्हें कुछ समझ में नहीं आया. आखिर कैसे हुआ. आगे शिकायत करने पर पता चला कि पेटीएम से बिजली बिल भरने के बाद ही उनके साथ ये फर्जीवाड़ा हुआ. साथ में जो रात में साढ़े 9 बजे बिजली कनेक्शन कटने का मैसेज आया था वो भी फर्जी निकला. उन्होंने पुलिस को फोन कर इस बारे में बताया तो पता चला कि उनके साथ साइबर फ्रॉड हो गया.

Cyber fraud

आखिर ये साइबर फ्रॉड कैसे हुआ, ऐसे समझिए

Cyber Crime News : असल में आशीष से इलेक्ट्रिसिटी ऑफिसर बनकर बात करने वाला साइबर क्रिमिनल था. उसने बिजली बिल अपडेट करने के नाम पर ANYDESK  ऐप डाउनलोड कराया. असल में ये एक रिमोट ऐप है. जैसे किसी ऑफिस में आपका सिस्टम खराब होने पर आईटी टीम वाले उस सिस्टम को रिमोट पर ले लेते हैं. इस तरह भले ही फोन आपके पास हो लेकिन उसका पूरा कंट्रोल रिमोट ऐप के जरिए दूसरे शख्स के पास भी चला जाता है. इस तरह फोन का दोनों इस्तेमाल कर सकते हैं.

रिमोट ऐप पर लेने के बाद ही फ्रॉड आपसे 10 रुपये या कभी 1 रुपये का छोटा सा ऑनलाइन अकाउंट से ट्रांजैक्शन कराते हैं. उसी समय फ्रॉड आपके पेटीएम या दूसरे ऑनलाइन बैंकिंग के पासवर्ड को देख लेते हैं. इस तरह थोड़ी देर बाद ही आपके बैंक अकाउंट का बैलेंस चेक करके ये फ्रॉड बदमाश आपके बैंक खाते से पूरे रुपये उड़ा लेते हैं. आशीष के साथ भी ऐसा ही हुआ. अभी भी रोजाना इस तरह के मैसेज भेजकर रोजाना सैकड़ों लोगों से ऐसी ठगी हो रही है. 

इस तरह के SMS भेज हो रही है ठगी

साइबर ठग कभी वॉट्सऐप तो कभी टेक्स्ट मैसेज भेज रहे हैं

SMS में बिजली कनेक्शन रात में कट होने की बात होती है

रात में लाइट अचानक कट जाएगी ये सोचकर लोग डरते हैं

फिर उस SMS में दिए फोन नंबर पर कॉल कर फंस जाते हैं

SMS में रात 8 तो कभी 9 बजे बिजली कट की बात होती है

कई बार ये फ्रॉड मैसेज के साथ लिंक भी भेजकर ठगी करते हैं

इसलिए कभी भी ऐसे मैसेज में दिए लिंक पर क्लिक नहीं करें

ऐसे जानिए ये तो फ्रॉड यानी रॉन्ग नंबर है

बिजली विभाग कभी भी कनेक्शन काटने का मैसेज नहीं भेजता है

विभाग विभाग बिल को लेकर कभी भी ऐसे धमकी नहीं देता है

बिल से जुड़ी डिटेल किसी मोबाइल नंबर से कभी नहीं भेजी जाती

ये साइबर फ्रॉड किसी मोबाइल नंबर से ये धमकी SMS भेजते हैं

बिजली कंपनी BSES इस कोडनेम BG-BSESRP से SMS भेजती है

इसी तरह हर बिजली कंपनी का नाम के साथ कोडनेम होता है

जैसे नोएडा में NDPL है तो इसका SMS कोड VK-NDPLBK है

लेकिन फ्रॉड जो मैसेज करते हैं वो किसी फोन नंबर से आता है

बिजली बिल पेमेंट सिर्फ विभाग की वेबसाइट या ऐप से होता है 

ये 3 मोबाइल ऐप कभी डाउनलोड नहीं करें

साइबर एक्सपर्ट रक्षित टंडन बताते हैं कि आजकल ठग खासतौर पर तीन रिमोट मोबाइल ऐप के जरिए ठगी कर रहे हैं. इन ऐप के नाम हैं, Quick Support, ANY Desk, Team Viewer. दरअसल, ये तीनों रिमोट ऐप होते हैं यानी इनके जरिए आपके मोबाइल या कंप्यूटर डिवाइस को हजारों किलोमीटर दूर बैठा शख्स भी अपने कंट्रोल में ले सकता है.

CRIME TAK : Cyber Safety Tips

सबसे पहले इस तरह के SMS आने से घबराएं नहीं

बैंक या कोई कंपनी कभी ऐसे मैसेज नहीं भेजती हैं

इसलिए ऐसे मैसेज आए तो उसे नजरअंदाज करें

कभी भी कोई मोबाइल रिमोट ऐप डाउनलोड न करें

ठग कई बार स्कैन करने के लिए QR कोड भेजते हैं

QR कोड स्कैन करते ही खाते से पैसे निकल जाएंगे

कभी किसी लिंक मैसेज के लिंक पर भी क्लिक ना करें

Cyber Crime Helpline number

फ्रॉड होने पर तुरंत ये काम करें

जैसे ही आपके साथ साइबर ठगी हो आप तुरंत 1930 नंबर पर कॉल करें

1930 साइबर क्राइम हेल्पलाइन नंबर है, जो टोल फ्री पूरे देशभर में है.

साइबर पुलिस से शिकायत कर तुरंत फ्रॉड खाते को ब्लॉक कराएं

भारत सरकार की वेबसाइट Cybercrime.gov.in पर कंप्लेंट करें

READ ALSO : Cyber Crime: ये वाला SMS भेज साइबर ठग ऐसे कर रहे हैं आपका अकाउंट खाली, बचना है तो ये काम करें

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter