+

सीमाओं की रक्षा के लिए बीएसएफ में शामिल हुए 368 जवान

भारतीय सरहदों की हिफाजत के लिए जान की बाजी लगाने की शपथ के साथ इंदौर में बुधवार को 368 नव आरक्षक सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) में औपचारिक रूप से शामिल हो गए। बीएसएफ के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

अधिकारी ने बताया कि बीएसएफ के सहायक प्रशिक्षण केंद्र में आयोजित परेड के दौरान इन नव आरक्षकों को केंद्रीय सशस्त्र बल में विधिवत शामिल किया गया और उन्होंने राष्ट्रध्वज तिरंगे के सामने देश की सीमाओं की रक्षा की शपथ ली।

इस मौके पर बीएसएफ के केंद्रीय आयुध एवं युद्ध कौशल विद्यालय (सीएसडब्ल्यूटी) के महानिरीक्षक अशोक कुमार यादव, सहायक प्रशिक्षण केंद्र के महानिरीक्षक जयकृत सिंह रावत और बल के अन्य आला अफसरों ने शपथ परेड का निरीक्षण कर सलामी ली।

सहायक प्रशिक्षण केंद्र के द्वितीय कमान अधिकारी (प्रशिक्षण) सौरभ ने बताया कि परेड में हिस्सा लेने वाले नव आरक्षकों में तमिलनाडु के 363 और कर्नाटक के पांच जवान शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि इन जवानों को 44 सप्ताह के कड़े प्रशिक्षण के दौरान सरहदों की हिफाजत के साथ ही देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए भी दक्ष किया गया और उन्हें अलग-अलग हथियार चलाने तथा इनका रख-रखाव करने, मानचित्र पढ़ने, आपदा प्रबंधन और अन्य संबद्ध क्षेत्रों के गुर सिखाए गए।

सौरभ ने बताया कि नव आरक्षकों की शपथ परेड में नजदीकी गांव बड़ोदिया ईमा के 25 युवकों को खास तौर पर आमंत्रित किया गया ताकि ये नौजवान बीएसएफ में भर्ती होकर देश सेवा के लिए प्रेरित हो सकें।

शेयर करें
Tags :
Whatsapp share
facebook twitter