+

AFGHANISTAN में औरतों पर पर्दा कानून लागू, तालिबान के शरिया कानून में महिलाओं पर लगे ये प्रतिबंध

TALIBAN NEW RULE FOR WOMEN

15 अगस्त पर जैसे ही तालिबान ने अफगानिस्तान और उसकी राजधानी काबुल पर कब्ज़ा किया.तालिबान के प्रवक्ता ज़बीउल्ला मुजाहिद ने दुनिया को ये बताया कि ये बदला हुआ तालिबान है और यहां अब महिलाओं के हक़ का ख्याल रखा जाएगा. लेकिन इस एक तस्वीर ने तालिबान की सच्चाई दुनिया के सामने ला दी है.

महिलाओं के लिए नए तालिबानी फरमान आपने सुने होंगे, लेकिन तालिबान के शरिया कानून में महिलाओं पर कौन कौन से प्रतिबंध हैं ये आज हम आपको क्राइम तक पर बताएंगे.

पंजशीर को लेकर तालिबान और NA के अलग-अलग दावे नॉर्दर्न एलायंस के लड़ाके अभी भी पहाड़ी इलाकों पर तालिबान का मुकाबला कर रहे हैं

ये है महिलाओं पर लगे वो 10 नियम

1- महिलाएं सड़कों पर किसी भी करीबी रिश्तेदार के बगैर नहीं निकल सकतीं

2- महिलाओं को घर के बाहर निकलने पर बुर्का पहनना ही होगा

3- पुरुषों को महिलाओं के आने की आहट न सुनाई दे, इसलिए हाई हील्स नहीं पहनी जा सकती

4- सार्वजनिक जगह पर अजनबियों के सामने महिला की आवाज़ सुनाई नहीं देनी चाहिए

5- ग्राउंड फ्लोर के घरों में खिड़कियां पेंट होनी चाहिए, ताकि घर के अंदर की महिलाएं दिखाई न दें

6- महिलाएं तस्वीर नहीं खिंचवा सकती हैं, न ही उनकी तस्वीरें अखबारों, किताबों और घर में लगी हुई दिखनी चाहिए

7- महिला शब्द को किसी भी जगह के नाम से हटा दिया जाए

8- महिलाएं घर की बालकनी या खिड़की पर दिखाई नहीं देनी चाहिए

9- महिलाएं किसी भी सार्वजनिक एकत्रीकरण का हिस्सा नहीं होनी चाहिए

10- महिलाएं नेल पेंट नहीं लगा सकती हैं, न ही वो मर्जी से शादी करने का सोच सकती हैं

SEX SLAVE बनाकर मौत देने वाले सनकी SERIAL KILLERS

तालिबान ने महिलाओं पर बंदिशें लगाई तो काबुल में महिलाओं ने तालिबान के खिलाफ़ विद्रोह छेड़ दिया. तालिबान जितने फरमान सुना रहा है, महिलाएं सड़कों पर निकलकर उतना ही विरोध कर रही हैं.

आप तस्वीरों में देख सकते हैं कि कैसे तालिबानी नेता महिलाओं को समझा रहे है, लेकिन महिलाएं अपने हक के लिए आवाज़ उठा रही हैं, इन महिलाओं के दिमाग़ से तालिबान का खौफ निकल चुका है. तालिबानी लड़कों के सामने भी ये महिलाएं नारेबाज़ी कर रही हैं तस्वीरें काबुल की हैं.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter