+

भारत ने अफगानिस्तान से 392 लोगों को एयरलिफ्ट किया

इंडिया ने रविवार यानी की 22 अगस्त को अफगानिस्तान से 392 लोगों को एयरलिफ्ट किया। ये लोग भारत आ चुके है। एयरलिफ्ट किए गए इन लोगों में दो अफगानी सांसद भी शामिल हैं।

इंडिया ने रविवार यानी की 22 अगस्त को अफगानिस्तान से 392 लोगों को एयरलिफ्ट किया। ये लोग भारत आ चुके है। एयरलिफ्ट किए गए इन लोगों में दो अफगानी सांसद भी शामिल हैं। अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद से दुनिया के तमाम देश अपने नागरिकों को सुरक्षित वहां से निकाल रहे हैं। इसी कड़ी में भारत ने रविवार को 3 अलग अलग फ्लाइटों से भारतीयों को वापस लेकर आई है।

इसके अलावा कतर में भारतीय दूतावास ने भी ये जानकारी दी है कि 146 भारतीय जिनको बचाकर दोहा पहुंचाया गया था उनको भी रविवार रात को ही देश वापस लाया गया।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, इससे पहले 22 अग्स्त को भी 168 लोग भारतीय एयरफोर्स के C-17 विमान से काबुल से दिल्ली के नजदीक हिंडन एयरबेस पहुंचे थे। इनमें 107 भारतीय और 23 अफगानी सिख और हिंदू शामिल थे। वहीं, एयरइंडिया की स्पेशल फ्लाइट से 87 भारतीयों और 2 नेपाली नागरिकों को भारत लाया गया। ये ताजिकिस्तान की राजधानी दुशान्बे से एयरलिफ्ट किए गए।

आपको बता दें कि इससे पहले काबुल से निकाले गए 168 लोगों में अफगान सांसद अनारकली होनारयार और नरेंद्र सिंह खालसा और उनके परिवार शामिल हैं। खालसा ने कहा, भारत हमारा दूसरा घर है। उन्होंने कहा, अगर हम भारत में रहते हैं, तो लोग हमें हिंदुस्तानी कहते हैं। उन्होंने मदद का हाथ बढ़ाने के लिए भारत को धन्यवाद कहा।

जब खालसा से अफगानिस्तान की स्थिति के बारे में पूछा गया तो उनकी आंखे भर आईं। डबडबाई आंखो से उन्होंने कहा, अफगानिस्तान छोड़ना काफी दुखद और कष्टभरा फैसला था। हमने ऐसी स्थिति कभी नहीं देखी। सब खत्म हो गया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अफ़ग़निस्तान से अब तक 590 लोगों को बचाकर काबुल से भारत लाया जा चुका है।अभी भी अफगानिस्तान में करीब 400 भारतीय फंसे हैं। भारत सरकार अपने नागरिकों को अमेरिका और कई देशों की हेल्प से अफग़निस्तान से निकालने की कोशिश में जुटा है।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter