+

आस्ट्रेलिया में हुआ चमत्कार तीन दिन तीन रात घने जंगलों में भटकता रहा तीन साल का मासूम, देखें रेस्कयू वीडियो

Australia में ऑटिज्म(autism) डिसऑर्डर से पीड़ित एक बच्चा घने जंगलों में भटक गया, फॉरेस्ट रेंजर्स ने तीन दिन बाद बच्चे को rescue कर पाए, Read more latest crime news, crime stories in Hindi on CrimeTak

शुक्र इस बात का है कि बच्चे के जिस्म पर मामलू चोटें लगी थीं। एंथनी नाम का तीन साल का ये बच्चा अपने परिवार के साथ सिडनी से 140 किलोमीटर दूर गांव में रहता था। इसका गांव घने जंगलों से घिरा हुआ है जिसमें खतरनाक जंगली जानवर रहते हैं।

दरअसल एंथनी ऑटिज्म(autism) डिसऑर्डर से पीड़ित है। ऐसे बच्चों में चलने फिरने की परेशानी से लेकर अपनी बात दूसरों तक पहुंचाने में परेशानी होती है। ऐसे बच्चों को बहुत देखभाल और प्यार की जरुरत होती है।

4 सितंबर को एंथनी अपने घर से निकल गया और घर के पास के जंगल में भटक गया। मां-बाप ने जब एंथनी को घर में खोजना शुरु किया तो वो उन्हें वहां नहीं मिला। खेत और आसपास के इलाके में भी एंथनी को खोजा गया लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल सका। परिवार ने इसकी खबर पुलिस को दी और पुलिस ने फॉरेस्ट विभाग को भी इस बच्चे की गुमशुदगी की इत्तिला दी।

पुलिस और फॉरेस्ट की कई टीमें एंथनी को ढूंढने में जुट गईं। खोज में कई हेलीकॉप्टर लगाए गए और आधुनिक दूरबीनों से घने जंगल में एंथनी को खोजा जाने लगा। पहले दिन कोई कामयाबी नहीं मिली, खोज दूसरे दिन भी जारी रही लेकिन तब भी पुलिस के हाथ खाली ही रहे।

तीसरे दिन भी एंथनी का कोई पता नहीं चला। पुलिस और मां-बाप उसके मिलने की उम्मीद खो चुके थे लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी थी। चौथे दिन जब एक हेलीकॉप्टर एंथनी की खोज में निकला तो उन्हें घने पेड़ों के नीचे कुछ हलचल दिखाई दी।

पुलिस ने दूरबीन से देखा तो वो एंथनी ही था जो उस वक्त एक गड्डे से पानी पी रहा था। तुरंत ये मैसेज फ्लैश किया गया जिसके बाद एंथनी के परिवार की जान में जान आई। एंथनी की जांच की गई तो उसके शरीर पर कटीली झाड़ियों से लगे जख्मों के अलावा चीटियों के काटे जाने के निशान थे।

हालांकि सब लोग हैरान थे कि आखिर इतना छोटा बच्चा बिना कुछ खाए पीए इतने दिनों तक उस भयानक जंगल में कैसे रहा।

एंथनी के पिता उसके मिलने को किसी चमत्कार से कम नहीं मान रहे हैं। एंथनी के पिता के मुताबिक, “ये एक चमत्कार है, वो अपनी मां से चिपक गया जैसे ही उसने अपनी मां की आवाज़ सुनी, उसने अपनी मां को देखा और फिर उसकी गोद में सो गया”

सबसे बड़ी बात ये है कि इन दिनों आस्ट्रेलिया में उस हिस्से का रात का तापमान 6 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है। ऐसे में तीन साल के छोटे बच्चे का जिंदा बचना किसी चमत्कार से कम नहीं है।

आस्ट्रेलिया में ये खबर जिसने सुनी वो बच्चे के जिंदा बचने के लिए भगवान का शुक्रिया अदा कर रहे हैं।

स्वर्ग का रास्ता, जिसे पार कर लिया तो स्वर्ग पक्का है!कहानी 'वोल्फ मैन' की, जो इंसान नहीं भेड़िया हैकब्र खोदकर लाश निकाली और फिर उससे रचाई शादी
शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter