+

NCR का नटवरलाल धरा गया: NSG कमांडो कैंपस में ठेका दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी

पकड़ा गया मास्टरमाइंड

LATEST CRIME STORY IN HINDI:

गुरुग्राम पुलिस की SIT ने उस मास्टरमाइंड को पकड़ लिया जिसने 100 करोड़ की धोखाधड़ी की थी। ये धोखाधड़ी NSG कमांडो कैंपस में ठेकेदारी दिलाने के नाम पर की गई थी। इस सिलसिले में पुलिस ने मास्टरमाइंड प्रवीण यादव के अलावा उसकी पत्नी ममता यादव, बहन रितु यादव को भी गिरफ़्तार किया है।

इसके अलावा पुलिस ने प्रवीण के पास से लग्ज़री गाड़ियां जैसे BMW, लैंड रॉवर, टाटा हैरियर्स जैसी गाड़ियां भी बरामद की है। प्रवीण की गिरफ्तारी के बाद अब पुलिस इस मामले की गहराई से तहकीकात कर रही है ताकि इस धोखाधड़ी के तारों को पूरी तरह से सुलझाकर आरोपियों को उनके अंजाम तक पहुँचाया जा सके।

शातिरों की चाल

CRIME STORY IN HINDI : पुलिस ये भी पता लगाने की कोशिश में है कि लोगों को उल्लू बनाकर उनके साथ हेराफेरी करने वाले इन शातिरों के साथ NSG कमांडो कैंपस के किसी कर्मचारी की तो कोई मिली भगत तो नहीं है। गुरुग्राम के एनएसजी (NSG) कैम्पस में 16 किलोमीटर लंबी पैरिफिरल रोड, एसटीपी बनाने, और सेंट्रल वेयर हाउस को तैयार करने का ठेका अगर किसी को मिले तो उसे कितना फायदा होगा।

ये बात कितनी वजनदार है और कितनी क़ीमती इसका अंदाजा कोई ठेकेदार ही लगा सकता है जो बिल्डिंग बनाने का काम करता हो। अब ऐसे किसी ठेकेदार को कोई सामने से आकर ऐसा ऑफर दे तो वो कुछ भी करने को राजी हो सकता है। खासतौर पर तब जबकि ऑफर देने वाला खुद ही उस कैंपस का रहने वाला और NSG का अफसर हो।

100 करोड़ की ठगी

FRAUD STORY IN HINDI: ये एक ऐसा झांसा है जिसमें अच्छे अच्छे लोग फंस सकते हैं। बस इसी दाने का इस्तेमाल करके ठगी के मास्टरमाइंड प्रवीण यादव ने 100 करोड़ से ज़्यादा ठगी की वारदात को अंजाम दिया।

गुरुग्राम पुलिस के मुताबिक करोड़ों की ठगी का मास्टरमाइंड प्रवीण कुमार यादव है जिसने खुद को डिप्टी कमांडेट बताकर अपने शिकार को फंसाया और 100 करोड़ रुपये की ठगी कर डाली।

रिश्तेदारों संग मिलकर ठग लिया

LATEST CRIME NEWS: प्रवीण कुमार यादव के इस काम में उसकी मदद की खुद उसकी पत्नी उसकी बहन और उसके जीजा ने। बकौल पुलिस इस ठगी की वारदात में सभी के रोल बड़े ही कायदे से डिजाइन किए गए थे।

प्रवीण ने खुद को डिप्टी कमांडेट बताया जबकि उसकी बहन बैंक में बतौर मैनेजर नौकरी करती थी लिहाजा बैंक के हिस्से की जिम्मेदारी उसने उठा ली। प्रवीण की बहन और उसके जीजा ने मिलकर बैंक में फर्जी अकाउंट खुलवाकर इस ठगी की वारदात को अंजाम तक पहुँचाया।

असली बैंक में फ़र्ज़ी अकाउंट

NSG COMMANDO FRAUD IN HINDI: दरअसल गुरुग्राम पुलिस को आधा दर्जन नामी कंपनियों ने लिखित शिकायत देकर गुहार लगाई कि प्रवीण यादव नाम के शख्स ने खुद को डिप्टी कमांडेंट बताकर एनएसजी कैम्सप में पैरिफिल रोड बनाने,एसटीपी बनाने और हाउसिंग फ्लैट्स बनाने को लेकर फ़र्ज़ी दस्तावेज़ों, एनएसजी कैम्पस में मौजूद एक्सिस बैंक में फ़र्ज़ी एनएसजी हेडक्वार्टर के नाम से अकाउंट खुलवा कर करोड़ो रूपये ट्रांसफर करवाए और पीड़ित कंपनियों से करोड़ो रूपये की ठगी करके फरार हो गया था।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter