+

मुंबई से पकड़ा गया दिल्ली का ठग, खुद डॉक्टर बने नहीं डॉक्टरी में एडमिशन के नाम पर ठगे लाखों

एडमिशन कराने के नाम पर ठग लिए 3.20 लाख रुपये

LATEST CRIME MUMBAI: मुंबई में कांदीवली पुलिस ने डॉक्टरी की पढ़ाई कर रहे एक छात्र को धोखाधड़ी के इल्ज़ाम में गिरफ़्तार किया है। इल्ज़ाम है कि उसने एक महिला से उसकी बेटी का किर्गिजिस्तान के एक मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलाने के नाम पर 3.20 लाख रुपये हड़प लिए।

आरोप है कि किर्गिज़िस्तान के एक नामी मेडिकल कॉलेज में बेटी का एडमिशन करवाने के नाम पर दिल्ली में डॉक्टरी की पढ़ाई कर रहे समीर बाबू ख़ान सिद्दीक़ी को पुलिस ने पकड़ा है। समीर बाबू ने लड़की की मां से एडमिशन करवाने के एवज में 5.5 लाख रुपये मांगे थे। इस वायदे के साथ कि पक्का एडमिशन हो जाएगा। लेकिन जब लड़की का एडमिशन हुआ तो वहां के बेहद मामूली कॉलेज में।

दिल्ली से पकड़ा गया डॉक्टरी का आरोपी छात्र

MUMBAI FRAUD CASE: इसके अलावा आरोपी ने लड़की की फीस भी पूरी जमा नहीं की। जिसकी वजह से कॉलेज ने लड़की को परीक्षा में बैठने से रोक दिया। इस बारे में जब बेटी ने किर्गिज़िस्तान से अपनी मां को इस बारे में बताया तो महिला ने थाने में जाकर धोखाधड़ी की ये रिपोर्ट दर्ज करवाई। इस मामले में जब DCP विशाल ठाकुर ने किर्गिज़िस्तान दूतावास में जाकर खुद बात की तब जाकर बेटी को इम्तिहान में परीक्षा देने का मौका मिल सका।

पुलिस ने इस संदर्भ में IPC की कई धाराओं में केस दर्ज करके 30 मार्च को दिल्ली से आरोपी को गिरफ़्तार कर लिया।

असल में इस मामले में पुलिस ने इसलिए और भी ज़्यादा तेजी दिखाई और पूरी शिद्दत के साथ केस सॉल्व करने में जुटी क्योंकि शिकायत करने वाली महिला घरों में काम करके पाई पाई जोड़कर अपनी बेटी को डॉक्टर बनाने का सपना देख रही थी। उसकी बेटी पढ़ने लिखने में तेज़ थी और वो भी डॉक्टर बनना चाहती थी।

बकौल पुलिस पीड़ित मां कुछ अरसा पहले आरोपी के संपर्क में आई और उसने भी लड़की को एडमिशन करवाने में मदद करने का वायदा किया था इसी एवज में उसने डेढ़ लाख रुपये खर्च करके ऑनलाइन क्लास भी लगवाई थी। पुलिस ने बताया कि बेटी का एडमिशन करवाने का हवाला देकर आरोपी समीर ने उससे 3.2 लाख रुपये ले लिए थे।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter