+

दो साल में 6 शादियां, मंदप से दुल्हे को छोड़ भाग गई दुल्हन, दूसरा प्रेमी आया था बाइक से लेने

Madhya Pradesh Crime News: मध्य प्रदेश के जबलपुर से लुटेरी दुल्हन का मामला सामने आया है. खुद को अनाथ बताने वाली लड़की ने कोर्ट परिसर स्थिति मंदिर में शादी की फिर दूल्हे को चकमा देकर जेवर और नकदी लेकर सबके सामने प्रेमी के साथ बाइक पर बैठकर फरार हो गई. कुछ ही देर में वकीलों ने लुटेरी दुल्हन के साथ आई उसकी कथित मौसी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया. पूछताछ में पुलिस को कई चौंकाने वाले खुलासे से हुए. पुलिस ने बताया कि दो सालों में आधा दर्जन से ज्यादा शादियां रचकर लोगों को लाखों रुपये का चूना लगाया है.

छिंदवाड़ा के रहने वाला दशरथ पटेल बड़े अरमानों के साथ शादी करने के लिए दो दिन पहले जबलपुर आया था. उसने बकायदा दुल्हन यानी रेणु राजपूत के साथ मंदिर में सात फेरे भी ले लिए. इसके बाद दोनों कोर्ट में शादी रजिस्टर करवाने जा रहे थे, लेकिन इसी दौरान बाइक पर बैठी दुल्हन बाइक से उतरी और दूसरे बाइक सवार प्रेमी के साथ भाग निकली. दुल्हन के अचानक भागने के बाद दूल्हा और उसके रिश्तेदार तुरंत ही कोर्ट परिसर वापस लौटे जहां पर उसकी मौसी अर्चना बर्मन को वकीलों ने घेर लिया. सूचना मिलने पर ओमती थाना पुलिस मौके पर पहुंची और महिला को पकड़कर थाने लाया गया.

50 हजार और सोने के जेवर लेकर भागी दुल्हन

पीड़ित पक्ष के अनुसार दूल्हे के चाचा-चाची जबलपुर में रहते हैं और किराना दुकान चलाते हैं. उनकी दुकान पर एक महिला अक्सर आती थी. दशरथ की चाची सुनीता के अनुसार उन्होंने उस महिला से अपने भतीजे की शादी करवाने के संबंध में चर्चा की जिसके बाद महिला ने रांझी निवासी अपनी भतीजी के संबंध में उन्हें बताया था. दूल्हे की चाची का कहना है कि उस महिला ने बताया था कि रेणु के माता-पिता नहीं हैं और उसकी शादी की जिम्मेदारी उन्हीं पर है. इसके बाद दोनों पक्षों ने 1 फरवरी की तारीख शादी करने के लिए तय की थी.

पुलिस मामले की जांच में जुटी

ओमती थाना प्रभारी एसपीएस बघेल ने बताया कि आरोपी रेणू उर्फ संगीता अहिरवार और उसके साथियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसने पूछताछ की जा रही और ऐसी आशंका दिखाई दे रही है कि इन लोगों ने पहले भी इस तरह की घटना को अंजाम दिया होगा. कथित मौसी अर्चना के पुलिस हिरासत में होने की सूचना मिलने पर देर रात दुल्हन रेणू भी थाने पहुंची पर उसके पास कोई जेवर और पैसा नहीं था.

पुलिस ने रेणू को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पता चला वह धनवंतरी नगर की रहने वाली संगीता अहिरवार है, जिसने रेणू के नाम से फर्जी आधार कार्ड भी बनवा रखा था. शुरुआती पूछताछ में इसने बताया है कि 2 साल में इसने छह शादियां की है. पुलिस ने रेणू उर्फ संगीता, अर्चना बर्मन, अमर सिंह व रेणू के प्रेमी अजय के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर. दो आरोपी अर्चना बर्मन को गिरफ्तार कर लिया गया है.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter