+

बाप नंबरी-बेटी दस नंबरी : महंगे होटलों में करते थे मौज-मस्ती, फिर ऐसे चकमा दे हो जाते थे फरार

Delhi Crime News : बाप नंबरी और बेटा दस नंबरी. लेकिन क्राइम की इस कहानी में तो दोनों बाप-बेटे ही जालसाज निकले. दरअसल, दिल्ली की IGI एयरपोर्ट पुलिस ने जालसाजी के मामले में एक पिता-बेटे की जोड़ी को गिरफ्तार किया है.

दोनों पर आरोप है कि ये खुद को काफी हाईप्रोफाइल बताकर महंगे होटलों में रुकते थे. ये ना सिर्फ रुकते थे बल्कि मौज-मस्ती भी करते थे. इसके बाद बिल भी नहीं देते थे. बिल देने की बारी आती तो इधर-उधर की बातें करके निकल लेते थे. कई बार तो ये लाखों रुपये के बिल के बदले सिर्फ कुछ हजार रुपये देकर बाकी नहीं देते थे.

ऐसे ही कई मामलों की शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने ये कार्रवाई की. इसकी जानकारी मिलने पर दोनों बाप-बेटे दिल्ली के एयरोसिटी स्थित एक होटल में भी रुक कर पिता-पुत्र की जोड़ी मौज मस्ती कर रही थी लेकिन अबकी बार मौज मस्ती करना इन्हें भारी पड़ गया. दरअसल, इन दोनों आरोपियों नवदीप सिंह (पुत्र) और कमलजील सिंह (पिता) के खिलाफ एक होटल मैनेजर ने शिकायत दर्ज करवाई थी.

क्या है पूरा मामला

Delhi Crime News: दिल्ली के एयरोसिटी अलॉफ्ट होटल (Aloft Hotel) के मैनेजर ने पुलिस को दी शिकायत में कहा था कि 11 अगस्त 2021 को जालंधर के रहने वाला नवदीप सिंह ने उनके होटल में चेक-इन किया था.

फिर उसके बाद उसकी मां कुलदीप कौर और पिता कमलजीत सिंह भी वहां रुकने के लिए आ गए. ये सभी 6 सितंबर तक उस होटल में रुके थे. साथ ही परिवार के तीनों सदस्यों होटल में रुकने के दौरान होटल की सभी सुविधाओं का लाभ भी उठाया. खूब जमकर खाया और पीया.

होटल में रहने, खाने से लेकर कई सर्विसेज के लिए उनका कुल बिल 3 लाख 41 हजार 54 रुपये का बना था. लेकिन उन्होंने केवल 60 हजार रुपये बैंक ट्रांसफर के माध्यम से होटल वालों को दिए.

फिर 4 सितंबर 2021 को कमलजीत सिंह और कुलदीप कौर ने बिना अपना बकाया चुकाए होटल के कमरे से चेक आउट किया और बाद में 5 सितंबर 2021 को नवदीप सिंह भी दो घंटे में वापस लौटने के बहाने से रुपये की शेष राशि का भुगतान किए बिना फरार हो गया.

दोनों की ऐसे हुई गिरफ्तारी


इसके बाद पुलिस ने मामले में अपनी जांच शुरू कर दी. जांच के दौरान सभी संबंधित दस्तावेज उस होटल से एकत्र किए गए और उन पर नियमित तकनीकी निगरानी भी रखी गई. टीम की मेहनत रंग लाई और 19 जनवरी 2022 को सूचना मिली कि नवदीप सिंह और उनके पिता कमलजीत सिंह परीक्षित होटल महिपालपुर नई दिल्ली में ठहरे हुए हैं. इसलिए महिपालपुर होटल में छापेमारी की गई और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया.

आरोपी नवदीप पर पंजाब में चल रहा है एक और केस


पुलिस की जांच में ये पता चला कि नवदीप सिंह पेशेवर अपराधी है और पंजाब के बरनाला में भी उसके खिलाफ एक केस दर्ज है. वहां उसके खुद को कनाडा का इमिग्रेशन ऑफिसर बताकर एक परिवार से जबरन वसूली की कोशिश की थी.

पुलिस ने बताया कि आरोपी नवदीप ही इस पूरे प्लान का मास्टरमाइंड है. वह खुद को एक व्यवसायी बताकर फाइव स्टार होटलों में रुकता था और होटल की सुविधाओं का लाभ उठाता था और फिर बिना बिल दिए ही भाग जाता था

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter