+

दिल्ली में पकड़े गए 'नटवरलाल के नाती' : बेच रहे थे सस्ते डॉलर, सौदा पड़ गया महंगा

चलती फिरती फरेब की दुकान

LATEST DELHI CRIME: दिल्ली के ठग पूरी दुनिया में मशहूर हैं। एक जमाना था जब दिल्ली को ठगों की राजधानी भी कहा जाता था। हालांकि वक़्त हालात और दौर सब कुछ बदल गया है, लेकिन अब भी चंद नमूने देश की राजधानी में नज़र आ ही जाते हैं।

इस दिल्ली ने तो ऐसे ऐसे शातिर देखे हैं जो आंखों से काजल निकाल लें और पता भी न चले। मगर कभी कभी दूसरों को उल्लू बनाने वाला खुद ही हुड़ुकचुल्लू बन जाता है। ऐसा ही एक क़िस्सा सामने आया है इसी दिल्ली से। यहां एक शातिर ठग को सस्ते डॉलर का झांसा देने का एक सौदा बहुत महंगा पड़ गया।

दरअसल दिल्ली पुलिस ने मेहरोली में क़ुतुबुद्दीन बक्तियार काकी दरगाह के पास से एक 28 साल के ठग को पकड़ा नाम है मोहम्मद राजू। ये राजू लोगों के बाजू में आकर कान में ऐसी बात फुसफुसाकर कहता था कि सुनने वाले की आंख खुली की खुली रह जाए। और फिर चलता था इसका फरेब का धंधा।

चाशनी सी बातें और चौकस चारा

DELHI CRIME STORY: हुआ यूं कि दिसंबर महीने में एक रोज कालका जी में राजू ने मोहम्मद दिलशाद के कान में कहा कि उसके पास 20 डॉलर का एक नोट है जिसकी बाज़ार में क़ीमत 1500 रुपये के आस पास है। मगर वो इसे 200 रुपये में दे सकता है, क्योंकि कुछ क्राइसेस चल रही है। मोहम्मद दिलशाद ने वो एक डॉलर उससे ले लिया।

तब राजू ने बड़े ही भोलेपन से कहा कि उसके पास ऐसे 1600 डॉलर पड़े हुए हैं, जिन्हें वो 200 रुपये प्रति डॉलर के हिसाब से दे सकता है। दिलशाद ने उस वक़्त तो उससे बताए गए 1600 डॉलर का सौदा तो नहीं किया लेकिन राजू का फोन नंबर ले लिया।

ठग ने ये कर दी चूक

DELHI THUG STORY: दिलशाद को पूरी तरह से अपनी बातों की चाशनी में राजू ने फंसा ही लिया था। फिर एक रोज राजू ने दिलशाद को गीता कॉलोनी के श्मशान घाट के पास बुलाया। उस वक़्त राजू के साथ उसका दोस्त मोहम्मद जहांगीर भी था।

वहां उसने दिलशाद को कपड़े में लिपटा हुआ एक बंडल पकड़ाया। राजू ने बताया कि उसमें डॉलर हैं। इस बंडल का सौदा 60 हज़ार रुपये में किया था। लेकिन दिलशाद ने जब उस बंडल को बाद में देखा तो वो महज़ काग़ज़ के टुकड़े थे। तब पुलिस में जाकर दिलशाद ने अपने साथ हुई ठगी की शिकायत दर्ज कराई।

ठगा सा रह गया पूरा गैंग

DELHI THUG STORY IN HINDI:पुलिस ने मामले की तहकीकात की और राजू के साथ साथ उसके साथियों को पकड़कर जब उनसे अपनी स्टाइल में पूछा तो राजू ने अपनी ठगी की सारी दास्तां भी बता दी साथ ही ऐसे ही लोगों से ठगे गए दो लाख 30 हजार रुपये भी पुलिस के हवाले कर दिए। साथ ही पुलिस को उसका ठगी की वारदात में इस्तेमाल किया गया मोबाइल भी मिल गया।

अब पुलिस राजू से पूछ रही है कि उसके साथी कहां कहां हैं। और अब तक कितने लोगों को वो चूना लगा चुका है। पुलिस को भरोसा है कि अब राजू झूठ नहीं बोल पाएगा।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter