+

उसने कहा था कि नोटों की बारिश होगी ऐसा हुआ भी लेकिन भीगने वाला कोई और था...

अहमदाबाद के सैटेलाइट इलाके में रहने वाला जिगनेश मोहरवाला नौकरी न लग पाने की वजह से काफी परेशान था। उसने नौकरी पाने की काफी कोशिश की लेकिन कहीं पर कामयाबी नहीं मिली। इस बीच ही जिगनेश ने कई धंधे खोलने की भी कोशिश की लेकिन उसे कोई धंधा जम ही नहीं रहा था। काफी हाथ पैर मारने के बावजूद भी बात नहीं बनी तो उसने अपने दोस्त से इस बात का जिक्र किया कि वही उसे कोई धंधे के बारे में बताए।

बात साल 2010 की है जिगनेश के दोस्त ने उसकी मुलाकात हितेश यागनिक से कराई । जिगनेश को उसके दोस्त ने बताया कि हितेश के पास ऐसी शक्ति है कि वो किसी भी मुसीबत से किसी को भी निकाल सकता है और हितेश के बताए उपायों से किसी की भी किस्मत चमक सकती है।

जिग्नेश के पिता अच्छे ओहदे से रिटायर हुए थे लिहाजा परिवार के पास करोड़ों रुपये की रकम मौजूद थी। हितेश और जिग्नेश की अब अक्सर मुलाकात होने लगी। हर मुलाकात में हितेश जिग्नेश को इस बात का विश्वास दिलाता था कि उसके पास ऐसी शक्ति है जिससे कुछ भी किया जा सकता है।

पूरे छह साल तक जिग्नेश और हितेश की मुलाकात होती रही। छह साल में हितेश ने उसे शीशे में उतार लिया था और जिग्नेश को यकीन हो चला था कि हितेश के अंदर ऐसी शक्तियां है जिनसे वो कुछ भी कर सकता है। हितेश ने उसको विश्वास दिलाया था कि अगर वो थोड़ा बहुत पैसा खर्च करे तो वो उसके घर में नोटों की बारिश भी करा सकता है।

हितेश ने इसके लिए परिवार से करीब छह लाख रुपये खर्च करने के लिए राजी कर लिया। इसके बाद हितेश ने जिग्नेश के घर के आंगन में काफी तंत्रमंत्र करने के बाद एक मटका जमीन में गाढ़ दिया। हितेश ने परिवार को विश्वास दिलाया कि बस इसके बाद से ही उन पर नोटों की बारिश शुरु हो जाएगी। उनकी किस्मत बस अब जागने वाली है और वो जिस भी डील में हाथ डालेंगे वो नोट उगलेगी।

इस पूजा के कुछ दिन बाद ही हितेश जिग्नेश के पास गया और उसे बताया कि उसने एक ऐसी जमीन देखी है जो उसे रातोंरात करोड़पति बना देगी। हितेश ने बताया कि कच्छ जिले में पचास हजार एकड़ की ज़मीन है जो बहुत जल्द ही बेहद महंगे दामों में बिकने वाली है।

इससे पहले कि कोई उस जमीन को खरीदे हितेश ने जिग्नेश को वो जमीन खरीदने के लिए कहा। जमीन की कीमत बताई गई 96 लाख। हितेश ने उसको ये भी बताया कि ये जमीन कुछ दिन बाद ही सरकार के एक बहुत बड़े प्रोजेक्ट का हिस्सा बनने वाली है और तब लाखों की ये जमीन कई करोड़ रुपयों में बिकेगी।

जिग्नेश को भी लगा कि ये हाल में ही हुई उस पूजा का असर है जिसकी वजह से ऐसी जमीन की डील उसके पास आई है। वैसे भी हितेश ने छह साल में जिग्नेश से कभी रुपये पैसा नहीं लिया था। जिग्नेश उसे 96 लाख रुपये देने के लिए तैयार हो गया । 96 लाख रुपये लेने के बाद हितेश ने उसे बताया कि जल्द ही जमीन उसके नाम हो जाएगी और उसके बाद जमीन की कीमत बढ़ते ही वो उसे बेचकर करोड़ो का मुनाफा कमा सकता है।

हालांकि बीच-बीच में हितेश पूजा के बहाने भी जिग्नेश से पैसे वसूलता रहता था। जब बात जमीन की आती तो वो जिग्नेश को कोई न कोई बहाना बनाकर टाल देता था। कई साल बीतने के बाद भी जब जमीन उसके नाम नहीं हुई और ना ही उसकी किस्मत चमकी तो उसने हितेश से अपने पैसे वापस मांगे।

हितेश ने जिग्नेश को पैसे वापस करने का वायदा भी किया लेकिन कुछ दिन बाद ही वो फरार हो गया। करोड़ों रुपयों की ठगी का शिकार हुआ जिग्नेश अब अपने पैसे वापस पाने की उम्मीद में थाने के चक्कर काट रहा है । हितेश अभी तक इस मामले मे फरार है और पुलिस उसका पता ठिकाना लगाने की कोशिश कर रही है।

हालांकि जिग्नेश पहले ही थोड़ा दिमाग लगा लेता कि जो शख्स खुद पर पैसे की बारिश नहीं करवा पा रहा है वो दूसरे पर कैसे करा सकता है । अगर उसमें ऐसी ही शक्तियों होती तो दुनिया भर के रईसों में हितेश का भी नाम होता।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter