+

दूल्हा कर रहा था सुहागरात पर इंतजार दुल्हन छत से कूदकर हो गई फरार

भिंड से संवाददाता हेमंत शर्मा की रिपोर्ट

बस इसके बाद से ही गोरमी इलाके के रहने वाले सोनू को ज़िंदगी का सबसे बड़ा झटका लगने वाला था। जिस रात के इंतजार में ना जाने कितनी रातें उसने जागकर गुजार दीं उसी रात को उसके ख्वाबों का ऐसा क़त्ल होगा इसका थोड़ा भी अंदाजा सोनू जैन को नहीं था। बहरहाल बात शुरु से शुरु करते हैं । अपने लिए दुल्हन ढूंढ रहे सोनू जैन ने कई चौखटों पर दस्तक दी लेकिन हर जगह से मायूसी हाथ लगी। बेटे की शाद ना होने की वजह से घरवाले अलग परेशान थे। वो चाहते थे बेटे का घर बस जाए तो वो भी मुक्ति पा जाएं।

सोनू का एक परिचित ग्वालियर में रहता था नाम था उदल खटीक। सोनू ने अपनी परेशानी के बारे में उदल को भी बताया और उसे भी लड़की ढूंढने के लिए कहा। कुछ दिन बाद उदल ने सोनू को बुलाया और बताया कि लड़की का इंतजाम हो गया है लेकिन शादी के एवज में लड़की के परिवार को उसे एक लाख रुपये देने होंगे। मोलभाव चला और 90 हज़ार रुपये पर सौदा तय हो गया।सोनू ने उदल को पैसे दे दिए और शादी की तारीख भी तय कर दी गई।

अब 27 जुलाई का वो दिन भी आ गया जिसका इंतजार सोनू और उसके घरवाले बेसब्री से कर रहे थे। 27 जुलाई को उदल सोनू की होने वाली दुल्हन अनिता के साथ गोरमी इलाके के सोनू के घर पहुंच गया। अनिता के साथ दो लोग और थे जिन्हें वो अपना भाई बता रही थी। एक का नाम अरुण था और दूसरे का नाम जितेन्द्र । उदल के साथ भी एक और शख्स आया था। तय महूर्त के हिसाब से शादी का पंडाल लगाया गया और शादी की रस्में निभाई गईं। सोनू और अनिता की शादी घर में ही परिवार के लोगों के सामने संपन्न करवाई गई। मंगलसूत्र पहनाया गया मांग भरी गई। सोनू के घर वालों ने दूल्हा दुल्हन को आशीर्वाद भी दिया।

घर में बेहद खुशी का माहौल था। खाना खाने के बाद अब सोने की बारी आई तो सब सोने के लिए घर के अलग-अलग कमरों में चले गए । अनिता ने सोनू को बताया कि उसकी तबीयत ठीक नहीं है और उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही है लिहाजा वो छत पर सोने जा रही है। ये कहकर वो छत पर अकेले सोने के लिए चली गई। देर रात सोनू भी अपनी नई नवेली दुल्हन से बातें करने छत पर पहुंचा लेकिन वहां पर अनिता थी ही नहीं ।

भिंड: अपने तथाकथित भाइयों के साथ दिख रही है लुटेरी दुल्हन अनिता

जब अनिता छत पर नहीं मिली तो पूरे घर में हल्ला मच गया । सुबह होने में कुछ ही वक्त बाकी था। हालांकि रिश्ता कराने वाला उदल उसका साथी और दुल्हन अनिता के दोनों भाई घर में ही मौजूद थे। पहले तो सोनू के परिवार ने उनसे ही पूछताछ करी कि आखिर पहली ही रात को दुल्हन छत कूदकर कैसे भाग गई। बाद में परिवार शिकायत करने थाने पहुंचा।

थाने गए तो उन्हें वहां अनिता मिल गई। पुलिस के मुताबिक छत से कूदकर भागने के बाद अनिता जब सड़क पर पहुंची तो वहां गश्त कर रही पुलिस के जवानों से उससे पूछताछ की जिसका साफ-साफ जवाब वो नहीं दे पाई। शक होने पर पुलिस उसे थाने ले आई।

इससे पहले पुलिस अपनी कार्रवाई करती सोनू जैन का परिवार ही अनिता के खिलाफ रिपोर्ट लिखाने थाने पहुंच गया। इस मामले में पुलिस ने अनिता और बाकी चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। अब पुलिस पता लगा रही है कि ये सब मिलकर अब तक शादी के नाम पर कितने लोगों को चूना लगा चुके हैं।

भिंड: लुटेरी दुल्हन अनिता की मांग भरता हुआ सोनू
शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter