+

अनोखा चोर : घर में चोरी के बाद छोड़ा खत, मांगी माफी, पैसे लौटाने का किया वादा

मध्य प्रदेश के भिंड शहर के एक मकान में 30 जून 2021 को चोरी हो गई। परिवार के लोग घर से बाहर गए हुए थे और जब लौटे तो ताला टूटा हुआ था । अंदर अलमारी, बक्से, लॉकर सब टूटे हुए थे सारा सामान बिखरा पड़ा था। पहली नज़र में ही साफ़ था कि ये मामला चोरी का है । ज़ाहिर है घर के क़ीमती चीज़ों के चोरी चले जाने से लोग सदमे में थे ।

इसी सदमे के बीच उनकी नज़र एक ऐसी चीज़ पर पड़ी, जिसे देख कर वो चौंक गए । घर में बिखरे सामानों के बीच एक पन्ने का एक खत भी पड़ा था जिसमें हिंदी और इंग्लिश में चंद हर्फ़ लिखे थे । जिसे इस घर का ताला तोड़नेवाले चोर ने खुद अपने हाथों से लिखा था...

आपने चोरी के वाकये तो बहुत देखे होंगे, लेकिन कोई चोर जो किसी के घर में चोरी करे और जाते-जाते पीड़ित परिवार को रुपये लौटाने की बात कह कर तसल्ली भी दे जाए, ऐसा चोर शायद ही इससे पहले कभी किसी ने देखा होगा। यहां चोर ना सिर्फ़ तसल्ली दे रहा था, बल्कि चोरी की अपनी अपनी उस मजबूरी को भी बता रहा था, जिसमें वो अपने दोस्त की जान बचाना चाहता था ।

क्या लिखा था लेटर में

माफ़ कर देना

जय हिंद जय भारत

सॉरी दोस्त, अगर मैं ये नहीं करता तो मेरे दोस्त की जान चली जाती

मजबूरी थी.. टेंशन मत लेना..

मेरे पास पैसे आते ही मैं तुम्हारे घर में पैसा फेंक जाऊंगा..

धूम-3..

दिल से अच्छा हूं!

चोर की चिट्ठी

चोर ने लिखा था कि उसके किसी दोस्त की ज़िंदगी पर ख़तरा मंडरा रहा है और उसे पैसों की सख्त ज़रूरत है । इन हालात में उसके पास ये चोरी करने के सिवाय कोई दूसरा चारा ही नहीं है। चोर ने चोरी का शिकार हुए परिवार से माफ़ी मांगते हुए ये भी लिखा था कि दिल का अच्छा है। खत में जय हिंद जय भारत लिख कर उसने ये भी बताने की कोशिश की थी कि उसके दिल में देश के लिए भी प्यार है ।

और तो और इस चोर ने अपने ख़त में फिल्म धूम थ्री का ज़िक्र इसलिए किया था, क्योंकि वो इस फिल्म से काफ़ी प्रभावित था । जिस तरह फिल्म का हीरो आमिर खान एक चोर होने के बावजूद चोरी के पैसों से ज़रूरतमंदों की मदद किया करता था, वो भी चोरी के पैसों से कुछ अच्छा काम ही करना चाहता था । यही वजह थी कि उसने अपने खत में धूम थ्री तो लिखा ही, साथ ही खुद अपने हाथों से ये भी लिख गया कि वो दिल का अच्छा आदमी है।

शहर के भीमनगर इलाक़े का ये मकान एसएएफ में काम करनेवाले राकेश कुमार का है, जो अक्सर अपने काम के सिलसिले में घर से बाहर रहते हैं। 30 जून को उनकी पत्नी सीमा मौर्य घर में ताला लगा कर अपने बच्चों के साथ मायके चली गई थी ।

जब लौट कर आई, तो घर का ये हाल देखकर सन्न रह गई उसके सोने चांदी के सारे ज़ेवर गायब हो चुके थे । चोर का खत मिलने के बावजूद उन्होंने इसकी शिकायत सिटी कोतवाली पुलिस से की और पुलिस ने भी एफआईआर दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी ।

भिंड पुलिस ने अब तक चोरी के बेहिसाब मामले सुलझाए थे, बड़े से बड़े और एक से बढ़ कर एक छंटे हुए बदमाशों को सलाखों के पीछे पहुंचाया था, लेकिन ऐसी चोरी पहली बार देखी थी, जिसमें चोर चोरी के बाद सफ़ाई भी दे रहा था और रुपये लौटाने का वादा भी कर रहा था।

बहरहाल, जांच आगे बढ़ी... आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच से लेकर दूसरे टेक्निकल सर्विलांस और मुखबिरों को इत्तिला पर आखिरकार पुलिस को इस मामले में कामयाबी भी मिल गई और वो अजीबोग़रीब चोर भी पुलिस के हाथ लग गया । इत्तेफ़ाक से चोर कोई दूर दराज का नहीं, बल्कि उसी मोहल्ले यानी भीम नगर का रहनेवाला एक नौजवान राहुल जाटव था ।

पुलिस के सामने सबसे बड़ा सवाल ये था कि आख़िर उसके दोस्त की ज़िंदगी पर ऐसा क्या खतरा था कि उसे चोरी करनी पड़ी और वो भी अपने ही मोहल्ले में... तो पकड़े जाने पर राहुल ने पुलिस को सारी कहानी बतानी शुरु की।

राहुल का कहना था कि उसके एक दोस्त के साथ उज्जैन के एक गैंगस्टर की अदावत चल रही थी । वही गैंगस्टर ना सिर्फ़ उसके दोस्त के पैर में गोली मार चुका है, बल्कि उसे जान से मारने की धमकी भी दे चुका है ।

जान के डर से उसका दोस्त उससे मदद मांग रहा है और ऐसे में उसके पास अपने दोस्त की जान बचाने के लिए उसी गैंगस्टर को डराने धमकाने के सिवाय और कोई चारा नहीं बचा। गिरफ्त में आए नौजवान राहुल की मानें तो उसे चोरी के इन रुपयों से पिस्टल खरीदना था । पिस्टल खरीद कर वो भी ठीक उसी तरह उस गैंगस्टर के पैरों में गोली मारना चाहता था जैसे उसने उसके दोस्त के पैर में मारी थी। हालांकि इससे पहले कि ऐसा हो पाता, पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया...

गिरफ्तार चोर की मानें तो उसने इस घर से जितने रुपये चुराए थे, उसके पास पैसे आते ही वो उससे डबल रुपये पैसे उन्हें लौटानेवाला था । किसी रोज़ अपने चेहरे पर कपड़ा बांध कर आता और घरवालों के सामने रुपये पैसे और ज़ेवर वगैरह खुद अपने हाथों से फेंक कर चला जाता ।

बहरहाल, ईमानदारी की बात करना और अपनी मजबूरी बताना अपनी जगह है, लेकिन क़ानून का काम अपनी जगह है । पुलिस ने राहुल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। ज़ाहिर है, जब राहुल ने चोरी की है, तो उस पर मुकदमा भी चलेगा और सज़ा भी होगी।

लेकिन ये सज़ा कितनी होगी और उसके खत और इन लच्छेदार बातों का उसे अदालत से कितना फायदा मिलेगा, ये देखनेवाली बात होगी । फिलहाल एक ईमानदार चोर की इस कहानी ने भिंड शहर के लोगों को किस्सागोई के लिए एक बेहतरीन टॉपिक ज़रूर दे दिया है।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter