+

तालिबानियों के मुल्क में बेघर हुए अफ़गानी! गरीबों को घरों से निकाल रहे हैं तालिबानी लड़ाके

अफगानिस्तान (Afghanistan) के कंधार शहर में लोग सड़कों पर हैं, आंदोलन कर रहे हैं और जो आंदोलन करने की हालत में नहीं हैं वो फरियाद कर रहे हैं। ये आदेश है कंधार में अफगान निवासियों को बाहर करने का, मामला दरअसल ये है कि दक्षिणी शहर कंधार में लंबे वक्त से खाली पड़े सैन्य परिसर में रहने वाले अफगानों को अपना घर और सारा सामान छोड़कर जाने का आदेश तालिबान ने दिया है।

क्या है पूरा मामला?

तालिबान के इस आदेश से सैन्य परिसर में रहने वाले गरीब अफगानों का कहना है कि उनके घरों से निकालने के आदेश से तबाह हो जाएंगे। इस आदेश के खिलाफ सैकड़ों अफगानों ने तालिबान के खिलाफ प्रदर्शन किया और कहा कि उन्हें नहीं पता कि अब वे कहां जाएंगे और ये भी कहा कि उन्होंने यहां बसने के लिए सालों पहले पूर्व अफगान सैनिकों को पैसे दिए थे। प्रदर्शन रैली के बाद तालिबान परिसर में आया और कई प्रदर्शनकारियों को वहां से जाने को मजबूर किया, प्रदर्शनकारी फिलहाल कहां है इसकी जानकारी किसी को नहीं है।

तालिबान ने क्यों दिया ये आदेश?

तालिबान ने परिसर में रह रहे 2,500 परिवारों को अपना घर और सारा सामान छोड़कर जाने का आदेश दिया है ताकि तालिबान लड़ाके वहां आकर रह सकें। लोगों का कहना है कि परिवारों को अपने साथ सिर्फ कपड़े लेकर जल्द से जल्द यहां से जाने के लिए समयसीमा दी है। आपको बता दें कि इससे पहले इस परिसर को 2001 में खाली कर दिया गया था जब तालिबान को बाहर करने के लिए अमेरिका के नेतृत्व में आक्रमण किया गया था और वहां रह रहे अफगान सैनिकों ने कंधार हवाई अड्डे पर स्थित केंद्रों में डेरा डाल लिया था। कुछ सालों में परिसर में विस्थापित अफगान वहां रहने लगे, वहां की जमीनें खरीदीं और अपने घर बनाए।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter