+

Shraddha Case:जंगल में खंगालने जा रहे हैं सबूत, पुलिस आफताब को महरौली के जंगल में लेकर पहुंची

Shraddha Case: जंगल में खंगालने जा रहे हैं सबूत, पुलिस आफताब को महरौली के जंगल में लेकर पहुंची। आरोपी ने बताया कि उसने श्रद्धा की हत्या करने के बाद शव के टुकडे़ इसी महरौली के जंगल में फेंके थे।

Shraddha Case : जंगल में खंगालने जा रहे हैं सबूत, पुलिस आफताब को महरौली के जंगल में लेकर पहुंची। आरोपी ने बताया कि उसने श्रद्धा की हत्या करने के बाद शव के टुकडे़ इसी महरौली के जंगल में फेंके थे। उसी की तलाश में पुलिस यहां आरोपी के साथ पहुंची है। हालांकि अब वहां क्या मिलेगा, ये देखने वाली बात होगी। पुलिस इस सवाल का भी जवाब खंगालने की कोशिश कर रही है कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि उसने शव के 35 से ज्यादा टुकड़े कर दिए। हैरानी की बात ये है कि इतना करने के बाद भी लड़की के प्रति उसका फितूर कम होने का नाम नहीं ले रहा था। उसने डेटिंग एप के जरिए एक और लड़की से मुलाकात की और वो भी अपने घर पर।

पुलिस कस्टडी में आफताब से पुलिस कई सवाल पूछेगी। सवाल होंगे -

क्या सोची समझी साजिश के तहत तो श्रद्धा को दिल्ली लेकर नहीं आया था आफताब?

पुलिस के मुताबिक, साल 2019 से श्रद्धा और आफताब रिश्ते में थे। दोनों के बीच आपस में छोटी छोटी बातों में झगड़े हुआ करते थे। मुंबई से श्रद्धा और आफताब ने हिल स्टेशन घूमने का प्लान बनाया। दोनों एक महीने के टूर पर हिल स्टेशन घूमने के लिए निकले थे। मार्च-अप्रैल महीने में श्रद्धा और आफताब हिल स्टेशन में घूम रहे थे। हिमाचल प्रदेश विजिट के दौरान आफताब की मुलाकात दिल्ली के छतरपुर में रहने वाले एक लड़के से हुई। श्रद्धा और आफताब ने दिल्ली में रहने का प्लान बनाया। 8 मई को श्रद्धा और आफताब दिल्ली आए, पहले पहाड़गंज के होटल में रुके उसके बाद साउथ दिल्ली के सैदुल्लाजाब इलाके में रुके।बाद में छतरपुर में दोनों ने फ्लैट लिया और कुछ दिनों बाद ही 18 मई को आफताब ने श्रद्धा का कत्ल कर दिया।

सवाल ये है की

हिमाचल में क्या ऐसा क्या हुआ की आफताब ने दिल्ली रहने का प्लान बनाया?

दिल्ली में पहले पहाड़गंज फिर सैदुल्ला जॉब में रहने के दौरान मुमकिन है की आफताब ने श्रद्धा का कत्ल करने का प्लान बनाया हो लेकिन मौका नहीं मिला हो? या कत्ल के लिए वो जगह मुफीद नहीं हो?

छतरपुर में फ्लैट लिया और फ्लैट लेने के कुछ दिन बाद ही श्रद्धा का कत्ल कर दिया, क्यों ?

हत्या करने के बाद लगातार तमाम सबूत मिटा दिए, मुंबई वापस नहीं लौटा और 6 महीने तक किसी को हत्याकांड की भनक तक नहीं लगने दी, क्यों ?

पुलिस पूछताछ में इन तमाम कड़ियों को जोड़ने में लगी है।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter