+

Shraddha Case : आफताब का नार्को टेस्ट खत्म

हिमांशु मिश्रा के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Shraddha Walker Case : श्रद्धा मर्डर केस में आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट खत्म हो गया है। ये टेस्ट अंबेडकर अस्पताल में किया जा रहा था। दिल्ली पुलिस गुरुवार सुबह आफताब को तिहाड़ जेल से अंबेडकर अस्पताल लेकर पहुंची। यहां पहले उसका जनरल मेडिकल चेकअप किया गया। इसके बाद आफताब का नार्को टेस्ट शुरू हुआ। करीब डेढ़ घंटे तक ये टेस्ट चला।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक, नार्को टेस्ट से पहले आरोपी की सहमति लेनी जरूरी होती है। नार्को टेस्ट को ट्रूथ सीरम भी कहा जाता है।

आफताब के नार्को टेस्ट के दौरान OT में एक सीनियर एनेस्थीसिया एक्सपर्ट, FSL के एक साइकोलॉजिकल एक्सपर्ट (यही आफताब से सवाल पूछ रहे हैं), एक OT अटेंडेंट, और FSL के 2 फोटो एक्सपर्ट्स मौजूद थे। नार्को टेस्ट की रिकॉर्डिंग भी हो रही है।

अजमल कसाब से लेकर निठारी केस तक के नार्को में क्या हुआ

Narco Test : अजमल कसाब 26-11 को मुंबई पर हुए आतंकी हमले का गुनहगार और इकलौता जिंदा पकडा गया आतंकी भी। इसका भी नार्को टेस्ट हुआ था, जिसमें उसने बताया था कि कैसे पाकिस्तान की तरफ से वो भारत में अटैक करने के लिए आया था। इस नारको में उसने वो सच उगला था जो मुंबई के तेज तर्रार ऑफिसर के पूछताछ के दौरान भी नहीं आ पाया था। इसके अलावा अब्दुल करीम तेलगी का नार्को टेस्ट हुआ। वही स्टांप घोटाले का मास्टरमाइंड पुलिस के सामने वो किसी का नाम नहीं ले रहा था लेकिन नार्को टेस्ट के दौरान स्टैंप  घोटाले के मास्टरमाइंड ने उन नेताओं के भी नाम ले डाले, जिन्हें इसने पैसे दिए थे।

इसके बाद बात करते हैं आरुषि मर्डर केस की। आरुषि मर्डर केस की साजिश देश में हुए कत्ल की सबसे गहरी साजिश में से एक थी। आरुषि और हेमराज को किसने मारा, ये पुलिस से लेकर सीबीआई तक पता नहीं लगा पाई। ऐसे में सच उगलवाने के लिए आरुषि के मां-बाप और घरेलू नौकरों को भी नार्को टेस्ट से गुजारा गया। हालांकि अफसोस की बात ये है कि नार्को टेस्ट भी साजिश को बेनकाब नहीं कर पाया।

ऐसे होता है नार्को टेस्ट ?
शेयर करें
Tags :
Whatsapp share
facebook twitter