+

51 बार स्क्रूड्राइवर से लड़की के सीने पर वार, बस में हेल्पर का काम करने वाले ने फ्लाइट से आकर की हत्या

Neel Kusum Panna Murder Case: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कोरबा (Korba) में शनिवार को 20 वर्षीय युवती नील कुसुम पन्ना की हत्या के मामले की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, नए तथ्य सामने आ रहे हैं. रविवार देर शाम पुलिस को मिली पोस्टमार्टम रिपोर्ट की जहां में युवती के शरीर पर धारदार हथियार से चोट के 51 निशान मिले हैं, वहीं घटना के पीछे लव ट्रायंगल की भी आशंका जताई जा रही है.

फिलहाल हत्या के संदिग्ध युवक शाहबाज खान की तलाश की जा रही है, जो अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है. शाहबाज खान के पकड़े जाने के बाद ही हत्या की असली वजह का पता चलेगा और पता चलेगा कि आरोपी ने लड़की को इतनी बेरहमी से क्यों मारा?

51 बार स्क्रूड्राइवर मारकर लड़की का मर्ड

रविवार देर शाम पुलिस को मिली पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक लड़की के सीने, गले, चेहरे और पीठ पर धारदार हथियार से कुल 51 घाव मिले हैं. घटना के दौरान युवती ने अपने बचाव के लिए हमलावर से संघर्ष भी किया, जिससे उसके हाथ पर धारदार हथियार से चोट लग गई। हत्या के वक्त बच्ची का मुंह बंद कर रखा था ताकि वह शोर न कर सके.

गौरतलब है कि कोरबा में सिटी कोतवाली के सीएसईबी पुलिस चौकी क्षेत्र में शनिवार को एक 20 वर्षीय युवती की निर्मम हत्या कर दी गयी. घटना के वक्त किशोरी घर में अकेली थी. घटना सुबह 8:00 बजे से दोपहर 12:30 बजे के बीच की बताई जा रही है.

Neel Kusum Panna Murder Case

Neel Kusum Panna Murder Case: पुलिस सूत्रों के अनुसार घटना क्रम कुछ इस प्रकार है कि बुधराम पन्ना साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) के पंप हाउस कॉलोनी में अपने परिवार के साथ रहते हैं. बुधराम पन्ना की पत्नी, एक बेटी और एक बेटे का सुखी परिवार था. बुधराम पन्ना शनिवार सुबह मजदूरी करने गया था. उसका 18 वर्षीय बेटा नितेश स्कूल में दाई का काम करने वाली अपनी मां को छोड़ने सुबह 8 बजे स्कूल गया था और वहां से कोरबा में रहने वाली अपनी नानी के घर चला गया था.

बुधराम की 20 वर्षीय इकलौती बेटी नील कुसुम पन्ना घर पर अकेली थी. रात करीब 12.30 बजे बुधराम पुत्र नितेश कुमार घर वापस आया तो घर का दरवाजा अंदर से बंद था. काफी देर तक बुलाने पर भी दरवाजा नहीं खुला तो नितेश घर के पीछे चला गया। घर का पिछला दरवाजा खुला हुआ था. अंदर जाकर नितेश ने देखा कि उसकी बहन अंदर के कमरे में खून से लथपथ पड़ी है. उनके चेहरे पर तकिया भी लगा हुआ था. अपनी बहन की हालत देख नितेश रोने लगा. वह घर से भागा निकल और शोर मचाया और आसपास के लोगों को इकट्ठा कर लिया. उसने घटना की जानकारी अपने पिता बुधराम पन्ना को दी. साथ ही डायल 112 व सीएसईबी चौकी पुलिस को भी सूचना दी. मौके पर पहुंची डायल 112 पुलिस ने बच्ची को तुरंत अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया.

Neel Kusum Panna Murder Case

घटना की सूचना मिलने पर नगर पुलिस अधीक्षक विश्व दीपक त्रिपाठी व नगर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रूपक शर्मा भी मौके पर पहुंचे. मौके से खून से सना फर्श का एक टुकड़ा, शाहबाज खान नाम के युवक के नाम से अहमदाबाद से रायपुर का हवाई टिकट, रायपुर से बिलासपुर जाने वाली बस का टिकट, एक शर्ट और कुछ अन्य सामान बरामद किया गया है.

जिस धारदार हथियार से युवती पर वार किया गया वह अब तक नहीं मिला है, पुलिस ने डॉग स्क्वायड की भी मदद ली लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला. पुलिस ने युवती का मोबाइल जब्त कर लिया है, जिसमें वह शाहबाज खान नाम के युवक से बार-बार बात करती हुई पाई गई है. पुलिस युवती के मोबाइल कॉल रिकॉर्ड और मौके से बरामद यात्रा टिकट के आधार पर शाहबाज खान नाम के युवक की तलाश कर रही है.

फ्लाइट से आकर शहबाज ने की युवती की हत्या

सीटी कोतवाली प्रभारी नगर निरीक्षक रूपक शर्मा ने बताया कि नील कुसुम पन्ना और शाहबाज खान के बीच मोबाइल और व्हाट्सएप पर काफी देर तक बात होती थी. ऐसा लगता है कि दोनों रिलेशनशिप में थे. इसके अलावा पन्ना परिवार के गृह क्षेत्र जशपुर के एक अन्य युवक से युवती की लगातार बात होती थी. पुलिस जांच में पता चला कि नील कुसुम पन्ना लंबे समय से शाहबाज खान से बात नहीं करना चाहती थी, लेकिन शाहबाज खान उसे बार-बार फोन करता था.

शाहबाज खान के युवक की तलाश में जुटी पुलिस

जशपुर जिले का रहने वाला शाहबाज खान भी कुछ समय से गुजरात में कार्यरत था. मृतक बच्ची के पिता बुधराम पन्ना भी जशपुर जिले के रहने वाले हैं. इंस्पेक्टर रूपक शर्मा ने बताया कि दो साल पहले तक किशोरी जिले के मदनपुर गांव स्थित मिशनरी छात्रावास में पढ़ती थी. वह निजी बस से समय-समय पर कोरबा आती रहती थी. जिस बस से नील कुसुम सफर किया करती थी, उसमें शाहबाज खान हेल्पर का काम करता था. सफर के दौरान दोनों की मुलाकात हुई, जो बाद में प्यार में बदल गई. गुजरात जाने के बाद भी शाहबाज और नील कुसुम के बीच लगातार बात होती रहती थी.

शाहबाज की तलाश में जुटीं पुलिस

इंस्पेक्टर रूपक शर्मा ने बताया कि शाहबाज खान की तलाश में पुलिस की तीन टीमें गठित कर संभावित स्थानों पर भेजी गई हैं. जशपुर टीम ने बताया है कि संदिग्ध वहां नहीं पहुंचा है। दो अन्य टीमों की रिपोर्ट का इंतजार है.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter