+

Crime: घर के सामने पेशाब करने से रोका तो चला दी गोली, गोलीबारी में 12 साल के बच्चे की हत्या

Crime News: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के भिंड के कोट गांव में घर के बाहर पेशाब (Toilet) कर रहे एक व्यक्ति को रोकना घर वालों के लिए भारी पड़ गया. पेशाब करने से रोकने पर युवक इतना भड़क गया कि उसने घर के लोगों पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. इस घटना में गोली लगने से 3 लोग घायल हो गये, जिसमें एक 12 वर्षीय बच्चा भी है. घायलों को इलाज के लिए ग्वालियर रेफर किया गया जहां एक 12 वर्षीय बच्चे की मौत हो गई. बच्चे की मौत के बाद मृतक के परिजनों ने जिला अस्पताल भिंड के बाहर शव को सड़क पर रख विरोध प्रदर्शन किया.

दरअसल भिंड के कोट गांव निवासी पिंटू शर्मा शराब पीने का आदी है. वह अक्सर शराब पीकर गांव में झगड़ा करता था. वारदात के दिन भी पिंटू शर्मा गांव में शराब के नशे में घूम रहा था और वह गांव में ही स्थित मोनू सिंह के घर के बाहर पैशाब करता था. मोनू और उसके भाइयों ने पिंटू को रोकने की कोशिश की तो वह गाली-गलौज करने लगा. मोनू ने अपने भाइयों के साथ नयागांव थाने में जाकर इसकी शिकायत की. जब तक पुलिस पिंटू को गिरफ्तार करने पहुंचती, पिंटू गांव से फरार हो गया.

इसके बाद पिंटू अपने एक साथी के साथ गांव पहुंचा और मोनू के घर पर फायरिंग शुरू कर दी. इस फायरिंग में मोनू समेत विकास और 12 वर्षीय विष्णु घायल हो गया. गोली मारने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया. तीनों घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया और तीनों की गंभीर स्थिति को देखते हुए तीनों को ग्वालियर रेफर कर दिया गया. 12 वर्षीय विष्णु की ग्वालियर में इलाज के दौरान मौत हो गई.

विष्णु की मौत के बाद मृतक के परिजन शव को भिंड ले आए और जिला अस्पताल के बाहर चक्का जाम कर दिया. चक्का जाम की सूचना मिलते ही पुलिस बल मौके पर पहुंचा और परिजनों को समझाया. परिजनों ने मांग की है कि आरोपियों के घरों पर बुलडोजर चलाया जाए और इसकी साथी एफआईआर में अन्य लोगों के नाम भी बढ़ाए जाएं. इसके अलावा मृतक के परिजनों को भी आर्थिक सहायता दी जाए.

साथ ही परिजनों ने केके दुबे पर आरोपियों से मिलीभगत का आरोप लगाते हुए नयागांव थाना प्रभारी को निलंबित करने की भी मांग की. मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने परिजनों को काफी देर तक समझाया.

मृतक के परिजन अनूप सिंह ने बताया कि-पिंटू शर्मा हमारे घर के सामने पेशाब कर रहा था, हमारे मामा के बेटे ने देखा तो उसके साथ मारपीट की, हमने पुलिस में जाकर एफ.आई.आर. कार्रवाई हुई, उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई, उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया, उन्होंने उसी दिन शाम को गोली चला दी, हमारे दो भाई घायल हैं और एक भाई की मौत हो गई है. घर पर बुलडोजर चलाया जाए, कड़ी कार्रवाई हो और आर्थिक मदद दी जाए.

2- आकांक्षा जैन, डीएसपी ने कहा कि- दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है आरोपी शराब का आदी था दोपहर में सुनने में आया कि आरोपी फरियादी के घर के बाहर शौच के लिए गाली-गलौज करता था।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter