+

अकोला में आवारा कुत्तों का सीरियल किलर, अब तक 30 कुत्तों को दे चुका है ज़हर, 24 की मौत

Maharashtra Crime: पिछले कुछ दिनों से इंसानों पर कुत्तों (Dogs) के हमलों की खबरों से सुर्खिया सराबोर हो गई थीं। हर दूसरी खबर में कुत्तों के काटने (Dog Bites) की खबर वायरल होती नज़र आ रही थी। बहस इस बात को लेकर छिड़ी हुई थी कि कहीं कुत्ता पालना ही तो सबसे बड़ा जुर्म (Crime) तो नहीं। और फिर कुत्तों को पालने वालों के लिए हर मुंह से कोई न कोई हिदायत ही निकल रही थी।

लेकिन महाराष्ट्र से जो खबर सामने आई है उससे कुत्तों की जमात में अजीब खलबली मच गई है। अच्छा है कुत्ते खबर नहीं पढ़ते और न ही खबर देखते हैं नहीं तो चारो तरफ भौ भौ का शोर हो रहा होता। ये खबर महाराष्ट्र के अकोला से आई है जहां कुछ इंसानों ने कुत्तों से भी बदतर हरकत करके इंसानों की नाक कटवा दी है।

असल में यहां पिछले पांच दिनों के भीतर 24 से ज़्यादा बिना घर घाट वाले कुत्ते मरे पाये गए। अकोला भर में ये खबर फैल गई कि यहां कुत्तों को जहर दिया जा रहा है। अकोला में कुत्तों की आकाल मौत के पीछे किसी इंसान की घटिया सोच का मज़र सामने आया ।

Crime Against Dog: अब तक जो गिनती मिली है उसके मुताबिक यहां 30 से ज़्यादा आवारा कुत्तों को जहर दिया गया। जिनमें से 24 कुत्तों की मौत हो गई। शहर में सक्रिय एनिमल रेस्क्यू टीमों ने अब जहर दिए गए कुत्तों का इलाज करवाना शुरू किया है साथ पलिस के पास दो थानों में जाकर केस भी दर्ज करवाया गया है।

बताया जा रहा है कि जिन छह कुत्तों का इलाज किया जा रहा है उनमें से कुछ की हालत बेहद नाजुक है। अब पुलिस पहरा देती दिखाई दे रही है और ये पता लगाने की कोशिश में है कि अकोला शहर में वो कुत्तों का दुश्मन कौन है जो कुत्तों से भी गिरी हुई हरकत कर रहा है।

इसके अलावा एनिमल रेस्क्यू टीमों ने अकोला शहर के अलग अलग हिस्सों में ऑपरेशन चला दिया है जिससे ये पता लगाया जा सके कि आखिर किसने कुत्तों को जहर देकर उनका सफाया करने की कोशिश की।

Dogs poisonous: एनिमल सामाजिक संस्था की सदस्य काजल राउत ने इस बारे में बताया कि उन्हें पिछले कई दिनों से ये शिकायत मिल रही थी कि बीते तीन चार दिनों से कुत्तों को जहर दिया जा रहा है जिसके कई कुत्ते बीमार होकर इधर उधर पड़े तड़प रहे हैं।

जब इस बारे में पड़ताल की गई तो अलग अलग हिस्सों से 24 कुत्तों की लाशें मिली। उन सभी को जहर देकर मारा गया था। जबकि कुछ ऐसे कुत्ते भी मिले जो बुरी हालत में तड़प रहे थे।

एनिमल रेस्क्यू टीम की तरफ से जहर से मारे गए 24 कुत्तों को दफना दिया गया है और बीमार कुत्तों को इलाज दिया जा रहा है। इसके अलावा संस्थान के लोगों ने दो पुलिस थानों में जाकर कुत्तों को इस तरह जहर देकर मारने के बारे में शिकायत भी दर्ज कराई गई है।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter