+

कंचे खेलने के झगड़े में चार साल के मासूम की हत्या, मुंह में भरा भूसा, लेकिन इसलिए पकड़ी गई सगी ताई

Hardoi Murder: उत्तर प्रदेश के हरदोई (Hardoi) ज़िले से कलेजा मुंह को आ जाने वाली ऐसी सनसनीखेज़ खबर सामने आई है जिसे सुनने वाले दहल गए। खुलासा हुआ है एक हत्या (Murder) का। लेकिन जिस तरीके से मासूम की हत्या के बाद उसे छुपाकर रखा गया वो बेहद हैरतअंगेज है। इस सिलसिले में पुलिस (Police) ने एक महिला को गिरफ्तार किया है जो रिश्ते में मासूम बच्चे की ताई (Aunty) लगती है। ये क़िस्सा माधौगंज थाना इलाके का है।

बताया जा रहा है कि 14 तारीख की शाम को अपने ही घर के बाहर खेल रहा चार साल का कृष्णा अचानक लापता हो गया। घरवालों ने बच्चे की बहुत तलाश की लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। घरवालों ने बच्चे की गुमशुदा होने की खबर पुलिस को दी।

पुलिस भी अगले तीन दिनों तक सारा इलाका छानती रही लेकिन उस मासूम का कहीं कोई अता पता नहीं चला। लेकिन 18 तारीख को कृष्णा मिल गया। लेकिन वो जिस हाल में मिला तो घरवाले गश खाकर गिर पड़े और पुलिस का सिर चकरा गया।

वो मासूम एक लाश की शक्ल में घर के ठीक पीछे मिला था। बच्चे का चेहरा बुरी तरह से खराब हो चुका था। लेकिन पुलिस को जिस बात ने सबसे परेशानी ने डाला वो थी उस मासूम का मुंह भूसे से भरा हुआ था।

पुलिस के सामने ये बात उजागर हो गई कि ये वाकया क़त्ल का है और क़त्ल भी खुन्नस और रंजिश में आकर किया गया था। तब पुलिस इस केस की गुत्थी सुलझाने में जुट गई।

मारने के बाद बच्चे के मुंह में भूसा भर दिया

Murder Story: गहराई से छानबीन और पूछताछ के बाद पुलिस ने आखिर मामला सुलझा ही दिया। और जो क़िस्सा सामने आया वो तो और भी ज़्यादा हैरतअंगेज था। पुलिस ने जैसे ही मासूम की हत्या के सिलसिले में मासूम की ताई को गिरफ्तार किया तो सभी हैरान रह गए।

तब पुलिस ने हत्या की पूरी बात उजागर की। हुआ यूं कि कृष्णा अपने घर के बाहर कन्चे खेल रहा था। उसके साथ कृष्णा का चचेरा भाई सचिन भी था। इसी बीच दोनों बच्चों में कन्चे को लेकर झगड़ा शुरू हो गया। बच्चों के झगड़े के वक्त कृष्णा का चाचा कौशल भी वहीं मौजूद था। उसने बच्चों को एक दूसरे से अलग करते हुए सचिन का हाथ मरोड़ दिया था।

सचिन रोते रोते अपनी मां रामबती के पास पहुँचा और उससे सारी बात बताई। अपने बच्चे को रोता देखकर रामबती ने कौशल और उसके परिवार को सबक सिखाने की ठानी। शाम को रामबती ने देखा कृष्णा अपने ही घर के चबूतरे पर बैठा खेल रहा था।

रामबती ने उसी वक़्त कृष्णा को अपने पास बुलाया और उसे घर के पिछवाड़े ले गई। वहां पहुँचकर रामबती ने कृष्णा को ज़ोर से धक्का दिया जिससे उसका सिर दीवार से टकरा गया। दीवार से टकरात ही सिर से खून बहने लगा और थोड़ी ही देर में कृष्णा की मौत हो गई।

तब रामबती ने कृष्णा के मुंह में भूसा भर दिया। और लाश को बोरी में बंद करके दूसरे कमरे में रख दिया। इसके बाद रामवती अपने दूसरे कामों में लग गई। उसने घर में इस बारे में किसी से कुछ भी नहीं कहा।

डॉग स्क्वॉयड से बचने के लिए घर से फेंकी लाश

UP Police Investigation: उधर कृष्णा के लापता होने की बात पुलिस  तक पहुँच चुकी थी। पुलिस ने मौके पर पहुँचकर जब कृष्णा की तलाश शुरू की और डॉग स्क्वॉयड को बुलवाया तो रामवती घबरा गई। पकड़े जाने के डर से रामवती ने रात में ही बोरे में बंद लाश को घर के पास एक झाड़ी में छुपा दिया। और वो बोरी को लाकर घर में छुपाकर रख दिया।

डॉग स्क्वॉयड की मदद से 18 तारीख को बच्चे का शव घर के पिछवाड़े एक झाड़ी से मिला। लेकिन जब डॉग स्क्वॉयड ने रामवती के घर का रुख किया तो पुलिसवालों ने घर की तलाशी ली और घर से प्लास्टिक की बोरी बरामद कर ली। और फिर रामवती को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पहले तो रामवती हत्या की बात से इनकार करती रही।

लेकिन जब पुलिस ने सख्ती दिखाई तो रामवती टूट गई और उसने सारी बात कुबूल कर ली। उसने ये भी कुबूल किया कि बच्चों के बीच झगड़े की तो फौरी वजह थी असल में कृष्णा के माता पिता से रामवती की पुरानी खुन्नस थी जिसकी वजह से रामवती ने कृष्णा की हत्या करके अपनी पुरानी रंजिश निकाली थी।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter