+

Dacoit Chheda Singh: फूलन देवी को किडनैप करने वाला डाकू छेदा सिंह की हुई इस वजह से मौत

Dacoit Chheda Singh Died: फूलन देवी (Phoolan Devi) का अपहरण करने वाला 50 हजार के इनामी डाकू छेदा सिंह (Dacoit Chheda Singh) की मौत हो गई है. लालाराम गैंग (Lalaram gang) के सक्रिय सदस्य रहते हुए 1981

Dacoit Chheda Singh Died: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा जिले मे सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी मे इलाज के दौरान 50 हजार के इनामी डाकू छेदा सिंह (Dacoit Chheda Singh) की मौत हो गई है. TB रोग से मौत के शिकार बने छेदा सिंह पर चंबल (Chamble Dacoit) की खूंखार महिला डाकू फूलन देवी का अपहरण करने का आरोप था. इटावा जिला जेल के वरिष्ठ जेल अधीक्षक डाॅ रामधनी ने आज यह जानकारी दी. उन्होने बताया कि छेदा सिंह की मौत आज शाम सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में टीवी रोग के इलाज के दौरान हो गई है.

Chheda Singh had kidnapped Phoolan Devi: 50 हजार के इनामी डाकू छेदा सिंह को औरैया पुलिस ने 26 जून को गिरफ्तार किया था, छेदा सिंह ने लालाराम गैंग (Lalaram gang) के सक्रिय सदस्य रहते हुए 1981 में फूलन देवी (Phoolan Devi) का अपहरण किया था. गिरफ्तारी के समय डाकू छेदा सिंह 50 हजार का इनामी था, जिसको 24 साल बाद गिरफ्तार किया गया था. 27 जून को इटावा जेल में दाखिल किए जाने के वक्त छेदा सिंह की तबियत बिगड़ गई, जिसके बाद छेदा सिंह को सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में भर्ती करा दिया गया, जहां आज शाम उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई.

कौन था डाकू छेदा सिंह? | Who is Dacoit Chheda Singh?
मौत का शिकार बना छेदा सिंह औरैया जिले के अयाना के भासौन गांव का रहने वाला था. छेदा सिंह ने लालाराम गैंग के सक्रिय सदस्य रहते हुए 1981 में फूलन देवी का अपहरण किया था. गिरफ्तारी के समय डाकू छेदा सिंह 50 हजार का इनामी था, जिसको 24 साल बाद गिरफ्तार किया गया था. डाकू छेदा सिंह साधु वेष में चित्रकूट के एक मठ में छिपा था. छेदा सिंह पर आरोप है कि 1981 में बेहमई कांड से पहले जब फूलन देवी का अपहरण विक्रम मल्लाह के ठिकाने से किया गया था तो छेदा सिंह भी उसमें शामिल था.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter