+

Crime: पिता के रिटायरमेंट के पैसे पर थी बेटे की नजर, हड़पने के लिये 7 साल के भतीजे का मर्डर

Bagpat Saurya Murder: बागपत (Bagpat) में 5 दिन से लापता मासूम शौर्य का शव पुलिस ने गड्ढे से बरामद किया है. शौर्य के चचेरे भाई और उसके कुछ दोस्तों पर हत्या का आरोप है. जिसने दादा की पेंशन राशि हड़पने के लिए पहले मासूम शौर्य का अपहरण किया और फिर उसकी बेरहमी से हत्या कर शव को गड्ढे में छिपा दिया. फिलहाल पुलिस ने मासूम के शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी भेज दिया है और पूरे मामले की जांच में जुट गई है.

दरअसल कोतवाली खेकड़ा क्षेत्र के फखरपुर गांव से 15 दिसंबर की शाम ट्यूशन से लौट रही 7 वर्षीय शौर्य का अपहरण कर लिया गया था. जिसके बाद से पुलिस लगातार बच्चे की तलाश कर रही थी. जंगल में ड्रोन और डॉग स्क्वायड की मदद से बच्चे की तलाश की जा रही है. लेकिन 7 वर्षीय मासूम का कोई सुराग नहीं मिल सका है. पुलिस ने मासूम का पता बताने वाले को 50 हजार रुपये का इनाम देने की भी घोषणा की थी. लेकिन उसके बाद भी पुलिस के हाथ लगातार खाली रहे. आसपास लगे सीसीटीवी पुलिस जांच कर रही थी.

इसी बीच पुलिस को सीसीटीवी फुटेज से कुछ ऐसे सुराग हाथ लगे, जिसके बाद 5 दिन बाद मामले की परतें खुलने लगीं. पुलिस ने संदेह के आधार पर शौर्य के चचेरे भाई को हिरासत में लिया और पूछताछ के बाद पता चला कि यह चचेरा भाई नहीं था जिसने ट्यूशन से लौटते समय शौर्य से मन्नत मानी थी और फिर उसकी हत्या कर दी थी.

हत्या के पीछे बताया कि उसके दादा कुछ दिन पहले सेवानिवृत्त हुए थे. जिसमें उसे पेंशन की राशि मिली, जिसे हड़पने के लिए उसने यह साजिश रची. इतना ही नहीं घटना के बाद से आरोपी पुलिस के साथ सर्च ऑपरेशन में भी डटे रहे. किसी को उस पर शक न हो इसलिए फिलहाल पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी भेज दिया है. और पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है.

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter