+

Bageshwar Dham Sarkar: 'चमत्कार दिखाने वाले जोशीमठ की धंसती जमीन रोककर दिखाएं'

मनीष के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Bageshwar Dham Sarkar: जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा, 'चमत्कार दिखाने वाले जोशीमठ आकर धंसकती हुई जमीन को रोककर दिखाएं, तब उनके चमत्कार को मैं मान्यता दूंगा।' ये बात उन्होंने बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र शास्त्री को लेकर कही।

बाबा को लेकर एक तरफ जहां विरोध हो रहा है, दूसरी तरफ उन्हें समर्थन करने वाले भी बहुत लोग है। खुद बाबा ने कई चैनलों पर आकर सफाई दी है। उन्होंने कहा है कि वो कोई चमत्कार नहीं करते, बल्कि बाला जी महाराज ये सब करते हैं।

कौन है धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ? Bageshwar Dham Sarkar: धीरेंद्र कृष्ण के दादा भगवान दास गर्ग पहले दिव्य दरबार लगाते थे। वे निर्मोही अखाड़े से जुड़े थे। उनकी मौत के बाद धीरेंद्र भी छतरपुर के गांव गड़ा में बालाजी हनुमान मंदिर के पास दिव्य दरबार लगाने लगे। बागेश्वर धाम एमपी में एक धार्मिक तीर्थ स्थल है। यहां भगवान बाला जी बागेश्वर धाम (हनुमान मंदिर) में विराजमान है। धीरेंद्र शास्त्री भगवद् महापुराण के कथावाचक है। उनका जन्म 4 जुलाई 1996 को हुआ था। वो गांव गढ़ा में पैदा हुए थे। उनके पिता का नाम राम करपाल गर्ग है। उनकी माता का नाम सरोज गर्ग है। उन्होंने अपने दादा भगवान दास गर्ग से ही दीक्षा ली। धीरेंद्र कक्षा 12 वीं तक पढ़े हैं। इसके बाद वो कथावाचक बन गए।

Shraddha Murder case
दिल्ली पुलिस ने 3000 पन्नों में दर्ज किया आफताब के गुनाहों का किस्सा
शेयर करें
Tags :
Whatsapp share
facebook twitter