+

Crime News: 10वीं बोर्ड का पेपर हुआ लीक, पुलिस ने अरेस्ट किए 25 लोग

Crime News: असम में 10वीं की परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक होने के संबंध में 25 लोग गिरफ्तार.
featuredImage

Crime News: असम (Assam)पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य की 10वीं कक्षा (10th Board Exams)की बोर्ड परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक (Exam Paper Leak)होने के मामले में अभी तक 12 छात्रों समेत 25 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया जबकि बाकी लोगों को बुधवार को पकड़ा गया। पुलिस प्रवक्ता प्रशांत भूइयां ने कहा, ‘‘अभी तक गिरफ्तार किए गए कुल लोगों की संख्या 25 हो गयी है। इनमें 12 बच्चे भी शामिल हैं।’’ असम के पुलिस प्रवक्ता भूइयां ने कहा, ‘‘अन्य 13 लोगों में चार सेवारत हैं। ये गिरफ्तारियां तिनसुकिया, धेमाजी, सादिया, डिब्रूगढ़, लखीमपुर और गुवाहाटी से की गयी।’’ भूइयां ने कहा कि गिरफ्तार लोगों को यहां एक स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किया गया जिनमें से वयस्कों को पुलिस हिरासत में और नाबालिगों को सुधार गृह भेज दिया गया है। इससे पहले, बुधवार को सीआईडी के एक अधिकारी ने कहा था कि मामले में राज्य के विभिन्न हिस्सों से हिरासत में लिए गए लोगों को पूछताछ के लिए यहां गुवाहाटी लाया जा रहा है।

Crime News: पुलिस महानिदेशक (DGP)जीपी सिंह बुधवार सुबह डिब्रूगढ़ पहुंचे, जहां से अभी तक करीब छह छात्रों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने विभिन्न अधिकारियों के साथ बातचीत की। हालांकि, इसकी जानकारी अभी उपलब्ध नहीं हुई है। शिक्षा मंत्री रानोज पेगू ने यहां विधानसभा के बाहर पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सीआईडी प्रश्नपत्र लीक की तह तक जाने के लिए जांच कर रही है। विपक्षी दल कांग्रेस ने विधानसभा के प्रवेश द्वार के बाहर थोड़ी देर प्रदर्शन किया और यह स्पष्ट करने की मांग की कि प्रश्नपत्र लीक हुआ था या नहीं। विपक्ष के नेता देबब्रत सैकिया ने कहा, ‘‘सरकार ने सदन में हमें बताया कि परीक्षा रद्द कर दी गयी है क्योंकि कुछ सामग्री व्हाट्सएप पर प्रसारित की गयी। उन्हें यह स्पष्ट करना चाहिए कि असल में क्या हुआ था।’’ गौरतलब है कि असम माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं कक्षा की सामान्य विज्ञान की परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक होने की खबरों के बाद उसे रविवार रात को रद्द कर दिया गया। असम पुलिस ने एक आपराधिक मामला दर्ज किया और सोमवार को इस मामले की तफ्तीश अपराध जांच विभाग (सीआईडी) को सौंप दी थी।

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter