+

G-20 समिट के दौरान दिल्ली में सरेआम चाकूबाजी, 20 साल के लड़के को नाबालिगों ने घेर कर उतारा मौत के घाट

Stabbed to Death in Delhi : देश की राजधानी दिल्ली में जिस वक्त दुनिया भर के नेताओं का जमावड़ा था, G-20 समिट शुरू हो चुका था उस वक्त दिल्ली में सरेआम एक चाकूबाजी की घटना हुई।
featuredImage

अरविंद ओझा की रिपोर्ट

Stabbing in Delhi: जिस वक़्त दिल्ली और एनसीआर के चप्पे चप्पे पर पुलिस का पहरा था, जिस समय देश की राजधानी में दुनिया भर की खुफिया एजेंसियां अपनी पैनी निगाहों से हवा तक को खंगाल रही थीं, ऐन उसी समय दिल्ली में एक ऐसी वारदात हुई जिसे सुनकर समूची दिल्ली एक बार फिर दहल उठी। असल में यहां एक लड़के को 8 नाबालिग लड़कों ने घेरकर न सिर्फ पीटा बल्कि उसे चाकू से गोद तक डाला। उस लड़के की मौके पर ही मौत हो गई। 

संगम विहार इलाके में चाकू बाजी

चाकू बाजी की ये वारदात हुई राजधानी के संगम विहार इलाके में और वो भी 9 सितंबर की शाम साढ़े 6 बजे। चाकूबाजी की इस वारदात में नाबालिग लड़कों ने 20 साल के एक नौजवान को मार डाला। पुलिस ने चाकूबाजी करके एक नौजवान को मौत के घाट उतारने के इल्जाम में 8 नाबालिग लड़कों को पकड़ा है। पुलिस ने चाकू भी बरामद कर लिया

20 साल के लड़के की हत्या

खुलासा है कि संगम विहार की गली नंबर 523 में रहने वाला 20 साल का दिलशाद अपने घर के बाहर बैठा था। दिलशाद के पिता के मुताबिक वो घर के बाहर बैठा था तभी उसने 20 रूपये मांगे और ये कहकर वहां से चला गया कि वो अभी आ रहा है। करीब 7 मिनट के बाद दिलशाद खून से लथपथ होकर घर लौटा। उसके पेट पर चाकू के गहरे घाव थे उसने बताया कि उस पर 8 लड़कों ने हमला किया। वो सीढ़ियों से ही अम्मी अम्मी की आवाज लगा रहा था। घरवाले दिलशाद को लेकर तुगलकाबाद एक्सटेंशन के मजीदिया अस्पताल पहुँचे जहां डॉक्टरों ने उसकी हालत देखकर उसे सफदरजंग रेफर कर दिया। 

सीसीटीवी में कैद हमला

डीसीपी चंदन चौधरी के मुताबि मजीदिया अस्पताल से पुलिस को खबर मिली कि चाकू से घायल लड़के को घायल हालत में भर्ती किया गया है। दिलशाद की छाती और पेट पर चाकू के गहरे निशान थे। इसी बीच घटना का सीसीटीवी भी सामने आया है। पुलिस ने मौके का मुआयना किया वहां लगे सीसीटीवी में दिलशाद पर हमला होता हुआ रिकॉर्ड हुआ था। रविवार सुबह इलाज के दौरान दिलशाद की मौत हो गई। पुलिस ने वीडियो में दिखाई दे रहे हमलावरों की पहचान के बाद 8 नाबालिग लड़कों को पकड़ा है। खुलासा ये हुआ है कि एक साल पहले आरोपी और दिलशाद का झगड़ा हुआ था और तभी से दोनों के बीच अदावत चल रही थी। पुलिस का अंदाजा है कि इसी झगड़े की वजह से आरोपी ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर दिलशाद पर हमला किया। चूंकि सारे आरोपी अभी नाबालिग हैं लिहाजा उसी के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। 

शेयर करें
Whatsapp share
facebook twitter